• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

मूल्यांकन केंद्रों में मैट्रिक व इंटर की कॉपियों की जांच जारी पर 687 में से 439 शिक्षकों ने ही अब तक दिया योगदान

1 min read

मूल्यांकन केंद्रों में मैट्रिक व इंटर की कॉपियों की जांच जारी पर 687 में से 439 शिक्षकों ने ही अब तक दिया योगदान

NEWS TODAYतय समय पर मैट्रिक व इंटर की कॉपियों की जांच हो जाने के बाद रिजल्ट भी आने की संभावना है परन्तु धनबाद के चार मूल्यांकन केंद्रों में मैट्रिक व इंटर की कॉपियों की जांच में 687 में से 439 शिक्षकों ने ही अब तक योगदान दिया है। इस संबंध में जिला शिक्षा पदाधिकारी कार्यालय ने जैक को रिपोर्ट भेज दी है। हालांकि धनबाद के चार मूल्यांकन केंद्रों में मैट्रिक व इंटर की कॉपियों की जांच दूसरे दिन शुक्रवार को भी जारी रही।

ये भी पढ़े…

टैक्स जमा करने वालों की भीड़ को देखते हुए रविवार को भी खुला रहेगा नगर निगम का टैक्स काउंटर

सूत्रों का कहना है कि किसी भी सेंटर में प्रधान परीक्षकों ने भी शत प्रतिशत योगदान नहीं दिया है। कई सेंटर में आधे से भी कम प्रधान परीक्षक पहुंचे हैं। धनबाद प्राणजीवन एकेडमी में 28 में 10, बीएसएस बालिका उवि में 26 में 19, प्लस टू गोविंदपुर में 25 में 17, लोवाडीह में 28 में 20 पहुंचे। वहीं सह परीक्षकों की भी स्थिति बहुत बेहतर नहीं है। लोवाडीह में 170 में 105, गोविंदपुर में 156 में 109, बीएसएस बालिका में 116 में 82, प्राणजीवन एकेडमी में 138 में 77 ही पहुंचे हैं। अभया सुंदरी बालिका विद्यालय सेंटर में आर्ट्स की कॉपियों की जांच पांच जून से शुरू होना निर्धारित है।

वहीँ शिक्षक संघ का कहना है कि दूर दराज के शिक्षक योगदान देने के लिए नहीं पहुंच पा रहे हैं। बहुत शिक्षकों के पास अपना वाहन नहीं है। यही नहीं कई शिक्षक दंडाधिकारी समेत अन्य कार्यों में प्रतिनियुक्ति है। इसकारण नहीं आ पा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.