महिला थाने में जो था ओ ना जो ना ओ था का खेल चल रहा है

[URIS id=45547]

महिला थाने में जो था ओ ना जो ना ओ था का खेल चल रहा है….

NEWSTODAY:धनबाद : महिला थाना धनबाद में महिलाओं को नही मिलता है न्याय। यहाँ कालीकोर्ट वाली साहिबा का सिक्का चलता है थाना में । हेड और टेल का खेल को पुलिस को समझना मुश्किल साबित हो रहा है। थाना में लड़का और लड़की पक्ष के लोगो को हेड और टेल के खेलना पड़ता है वरना महिला थाना का चक्कर लगाना शुरू हो जाता है। इसी तरह का खेल रोज चलता है उच्च अधिकारियों को सब कुछ पता होने के बाद चुप्पी साधे हुए रहते हैं। पुलिस महकमे में कयास लगाए जा रहा है कि शायद नए एसएसपी साहब कुछ कर सकते हैं। सरायढेला थाना क्षेत्र के बीसीसीएल कॉलोनी में एक विवाहित महिला पति के विवाद होने के बाद मैयके में रहती है पड़ोस के रॉकी नामक स्वजातीय युवक से प्रेम कर बैठी और तीन साल दोनो का मिलना जुलाना हुआविवाहित महिला गर्भ धारण कर चुकी है । 5 मई को महिला थाना में शिकायत दर्ज कराई उसके बाद महिला थाना प्रभारी के चेम्बर में बैठी महिला साहिबा का हेड और टेल का खेल खेलना शुरू कर दिया । दोनो पक्ष को 7 मई को बुलाया गया काफी माप तौल, हेड टेल का खेल चला और सात मई को भी महिला को न्याय नहीं मिला । 9 मई को दोनो पक्षों को बुलाकर थाना में दिन भर हेड टेल का खेल चला। लड़का को शादी करने का दबाव बनाया गया। अन्ततः शादी की रजामंदी हुआ है

ये भी पढ़ें।

सुविधा केन्द्र के नाम पर कपड़ा बेचते पकड़ाया व्यवसायी, पुलिस ने की कार्रवाई

लड़काका परिजनों का कहना है कि दोनों अपने मर्जी से असामाजिक कार्य किया है कोई लेना देना नही है। महिला थाना का हाल बेहाल महिला थाना प्रभारी एम गुड़िया इसी वर्ष पदस्थापित हुई है उसके बाद से अपनी नोकरी को बचाने के लिए “साहिबा” का सहारा लेकर अपना का करती है । अगर किसी प्रकार का कोई मामला फंसता है तो वकील साहिबा पर सेहरा बांध दिया जाता है और विभागीय जांच में बच जाते हैं। अब देखना है कि महिला थाना में महिला साहिबा के प्रति नए एसएसपी साहब क्या रुख अपनाते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here