महारष्ट्र से पुरुलिया के लिए चला कंटेनर भटकर झरिया पहुंचा, 40 प्रवासी मजदूरो को देख मचा हड़कंप

यहाँ देखे वीडियो।

महारष्ट्र से पुरुलिया के लिए चला कंटेनर भटकर झरिया पहुंचा, 40 प्रवासी मजदूरो को देख मचा हड़कंप

NEWS TODAY झरियाः-महाराष्ट्र से 40 मजदूरों को लेकर पुरुलिया बंगाल के लिए निकला कंटेनर संख्या एमएच48 बीएम 6113 राह भटक कर झरिया विहार बिल्डिंग के पास पहुंच गया। यहां वाहन में खराबी आ गयी। कंटेनर में 40 मजदूरों को देख स्थानीय लोग चकित हो गये। तत्कार इसकी सूचना झरिया विधायक व पुलिस को दी। झरिया विधायक पूर्णिमा नीरज सिंह, झरिया इंस्पेक्टर डा. पीके सिंह सदल-बल उक्त स्थल पहुंचे।
पूछताछ के दौरान मजदूरों ने बताया कि वे लोग पुरुलिया बंगाल के रहने वाले है। महाराष्ट्र के ओसीवोरा में काम करते थे। लाॅक डाउन के कारण काम बंद हो गया। लिहाजा उनलोगों को भाड़ा पर कंटेनर कर घर लौटने का फैसला लिया। मजदूरों के अनुसार कंटेनर चालक को प्रति मजदूर लगभग साढ़े 4 हजार भाड़ा दिया गया।
15 मई को उक्त मजदूर महाराष्ट्र से निकले थे। चार दिन बाद कई स्थानों पर रुकते हुए 19 मई को झरिया पहुंचे। इनकी हालत खराब थी। लिहाजा झरिया इंस्पेक्टर डा. पीके सिंह ने सभी को भोजन का पैकेट व पानी उपलब्ध कराया। कई अन्य संस्थाओं ने भी इन्हे भोजन दिया। झरिया पुलिस ने सभी मजदूरों को दूसरे वाहन से लगभग 3 तीन घंटे बाद सभी मजदूरों को पुरुलिया के लिए रवाना कर दिया।विपत्ति की इस घड़ी में भले हम उन मजदूरों को प्रवासी कह ले। लेकिन उनके प्रति अपनत्व आज झरिया वालों ने भी दिखाया। ये मजदूर भारत के सबसे अधिक प्रभावित क्षेत्रों में से एक महाराष्ट्र झरिया पहुंचे थे। कई दिनों से इन्हे ढंग का भोजन नहीं मिला था। चूंकि वाहन भारत के सबसे अधिक संक्रमित राज्य महारष्ट्र से आया था बावजूद झरियावासियों ने सभी मजदूरों को भोजन-पानी व अन्य खाद्य मुहैया कराया। इतना ही नहीं यहां से जाते समय मजदूर भी झरियावासियों का अभिवादन हाथ उठाकर किया।

ये भी पढ़े…

ऑनलाइन होम डिलीवरी के साथ ऑफलाइन भी बिकेगी झारखण्ड में शराब

समाचार लिखे जाने तक कंटेनर झरिया में ही रुका था। चालक व उप चालक भी अपने वाहन के पास ही थे। लोगों ने इनको भी जांच कराकर वापस भेजन की मांग की। लोगों को भय है कि इनसे आसपास संक्रमण फैल सकता है।लाॅक डाउन 4 के दूसरे दिन मंगलवार को झरिया कोयलांचल में राशन के अलावा भी अन्य दुकाने खुली पर बाद में दुकानदारों ने स्वनिर्णय से दुकानों को बंद कर दिया। झरिया सोना पट्टी में दुकानदार पहुंचे और सर्वसम्मति दुकान बंद कर दिया। इसी तरह पुस्तकों की दुकानों सहित, हार्डवेयर, बिजली के सामान, मोबाइल आदि दुकाने भी खुलने के कुछ घंटे बाद बंद कर दी गयी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here