• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

भारत और रूस के बीच होगा न्यूक्लियर सबमरीन सौदा 

1 min read

नई दिल्ली।

भारत और रूस के बीच होगा न्यूक्लियर सबमरीन सौदा 

नई दिल्ली। भारत एक और न्यूक्लियर अटैक सबमरीन रूस से लीज पर लेगा। तीन अरब डॉलर के इस सौदे पर इसी हफ्ते दस्तखत किए जा सकते हैं। इस सबमरीन को भारत की जरूरतों के मुताबिक बदला जाएगा। इसमें भारत में बनाई गई संचार प्रणाली और सेंसर लगाए जाएंगे।Image result for भारत और रूस करेगा न्यूक्लियर सबमरीन सौदा

जानकारी के मुता‎बिक इस सबमरीन लीज के लिए इंटर-गवर्नमेंटल एग्रीमेंट पर 7 मार्च को दस्तखत किए जा सकते हैं और इस पनडुब्बी को साल 2025 तक तैयार कर लिया जाएगा। इसे रूस के शिपयार्ड में बनाया जाएगा, जहां पुरानी पनडुब्बियों को नई साज-सज्जा दी जाती है। चक्र-3 कम से कम 10 साल तक सेवा में रहेगी और यह चक्र-2 की जगह लेगी, जिसे इन्हीं शर्तों के साथ 2012 में हासिल किया गया था। माना जा रहा है कि चक्र-3 की 2022 में समाप्त होने वाली लीज की अवधि पांच साल बढ़ाई जा सकती है। तब तक नई पनडुब्बी तैयार हो जाएगी और उसका परीक्षण कर लिया जाएगा।

इन अकुला क्लास सबमरीन को चक्र-3 नाम दिया गया है। Image result for भारत और रूस करेगा न्यूक्लियर सबमरीन सौदाइससे पहले इसी तरह की दो सबमरीन भारत को रूस से मिली थीं। पिछले साल एस 400 एयर डिफेंस सिस्टम के लिए रूस से 5.5 अरब के कॉन्ट्रैक्ट के बाद यह रूस के साथ सबसे बड़ी डील होगी। दुश्मन की नजरों से छिपने और प्रहार करने की क्षमता के मामले में अकुला क्लास सबमरीन से आगे केवल अमेरिकी परमाणु पनडुब्बियां ही हैं।

NEWSTODAYJHARKHAND.COM

Leave a Reply

Your email address will not be published.