ब्रह्माकुमारी बहनों की ज्ञान-योग होली !

0
163

रांची।

ब्रह्माकुमारी बहनों की ज्ञान-योग होली !

रांची। परमात्मा के अवतरण से पूर्व मनुष्यों पर पाँच विकारों का रंग चढ़ा होता है। ऐसे समय सत्चित् आनन्द स्वरूप परमात्मा आकर ज्ञान-योग का रंग मनुष्यों को देते हैं, इस वृतान्त की याद में आज तक शिवरात्रि के बाद होली मनाई जाती है। ये उद्गार चैधरी बागान हरमू रोड ब्रह्माकुमारी संस्थान में केन्द्र संचालिका ब्रह्माकुमारी निर्मला बहन ने व्यक्त किये।

आध्यात्मिक कार्यक्रम में बोलते हुए उन्होंने कहा भौतिकवाद के कारण आध्यात्मिकता को तिलान्जली देकर लोग रासायनिक रंग एक दूसरे को लगा देते हैं लेकिन मनुष्य को स्वयं से पूछना चाहिए कि मैं किस रंग में रंगा हुआ हूँ।

कुसंग के रंग में या सत्संग के रंग में घ् अभी भी समय है कि मनुष्य ज्ञानरंग द्वारा अपने हृदय को प्रभू के संग के रंग में और एक दूसरे के प्रति द्वेष, ईष्र्या छोड़कर आपस में प्रभू के संग के रंग में ले और एक-दूसरे के प्रति द्वेष-ईष्र्या छोड़ कर आपस में व प्रभू से मंगल मिलन मनायें। ऐसी होली ही मर्यादा और अनुशासनपूर्ण सच्ची होली होगी जिससे श्री लक्ष्मी-श्री नारायण का पद प्राप्त होगा।

समारोह में बोलते हुए ब्रह्माकुमारी राजयोगिनी निर्मला बहन ने कहा होली के दिन कई लोग श्री नारायण के बचपन के रूप श्रीकृष्ण को झूले में झूलता हुआ दिखाते हैं। वर्ष में एक दिन हिंडोले-झूलने से मनुष्य वैकुण्ठ नहीं जा सकता यदि हम वर्ष भर श्री नारायण को लक्ष्य रूप में अपने मन के नेत्र के सामने रखें तथा सदा आन्तरिक हर्ष मनायें रखें चित्त को परमात्म स्वमान में एकाग्र करें तो निश्चय ही हम वैकुण्ठ में जायेंगे।

फाल्गुनी पूर्णिमा के दिन मनु का जन्म हुआ था उसी कारण यह मनु तिथि भी है। मनु के दिन तथा नये वर्ष आरंभ के दिन होली मनाने का भाव यही है कि हम अपनी पिछली बातों को भूलकर मानसिक रूप में नया जन्म लें, नये संस्कार बनायें और अपने जीवन का नया अध्याय खोले।

मायावी मनुष्य मायावी संस्कारों से दूसरों का अमंगल करता है, वह मंगल-मिलन तभी मना सकता है जब ज्ञान-सागर में आत्मा को धोकर मनोविकारों को ज्ञान-योग की अग्नि में दग्ध कर दे। होलिका दहन हमें इस बात की याद दिलाता है कि पापी अपने ही किये पाप के ताप से जल मरता है, अतः पापकर्मों से हटकर शुभ कार्यों में प्रवृत्त होना चाहिए।
इस अवसर पर ब्रह्माकुमारी बहनों-माताओं ने डांडिया रास भी किया।

NEWSTODAYJHARKHAND.COM

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here