• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

बोकारो चंद्रपुरा मुख्य मार्ग रेलवे समपार को  बंद करने के निर्णय पर जयमंगल सिंह उर्फ अनुप सिंह की पहल रंग लाई

1 min read

बोकारो चंद्रपुरा मुख्य मार्ग रेलवे समपार को  बंद करने के निर्णय पर जयमंगल सिंह उर्फ अनुप सिंह की पहल रंग लाई।

NEWSTODAYJ:बोकारो के चन्द्रपुरा बोकारो मुख्य मार्ग को जोड़ने वाली सड़क के रास्ते में पड़ने वाले  दुगदा यार्ड के सम्पार के  रास्ते को बंद करने के लिए धनबाद रेल मंडल के प्रबंधक अनिल कुमार मिश्रा के आदेश पर आई ओ डब्लू अशोक कुमार व धनबाद रेल इंस्पेक्टर अविनाश गरोसिया के नेतृत्व  में  दर्जनों रेल कर्मचारी व आर पी एफ के जवान  पहुंचे जहां पर ग्रामीणों की जमावड़ा व अनहोनी को देखते हुए स्थानीय पुलिस की भी सहायता ली गई।

यह भी पढ़े।

नगर निगम बकाया टेक्स वसूली के लिए उतरे सड़क पर

 

बताते चलें कि बोकारो चंद्रपुरा सड़क मार्ग जो बोकारो चंद्रपुरा की लाइफ लाइन कहा जाता है निर्माण पथ निर्माण विभाग के द्वारा हाल के दिनो मे ही लम्बी लड़ाई के बाद लगभग 6 किलोमिटर 12 करोड़ की लागत से कराई गई हैं जिससे बोकारो चंद्रपुरा की दूरी 20 किलोमीटर की बजाय 6 किलोमीटर में ही सिमट गई और हजारों लोगों की यात्रा इसी सड़क मार्ग से होने लगी जिससे रेलवे साइडिंग से  गुजरने के कारण खतरे को ध्यान में रखते हुए रेलवे  बंद करने का निर्णय लिया। परंतु कोई सुरक्षित विकल्प नहीं रहने के कारण करोड़ों की लागत से बनी सड़क बेकार साबित हो इस पर स्थानीय लोगों ने विरोध जताया।इस घटना की जानकारी पूर्व मंत्री राजेंद्र सिंह के पुत्र जय मंगल सिंह को हुई आनन-फानन में जय मंगल सिंह उर्फ अनूप सिंह  दुग्दा यार्ड पहुंच कर  रेलवे के वरीय अधिकारियों से बात कर समाधान निकालते हुए 2 महीने का समय मांगा जिस पर रेलवे ने सहमति देते हुए वैकल्पिक सड़क बनने तक हैवी  गाड़ियों को छोड़ चार पहिया और 2 पहिया वाहन को सहमति  प्रदान की । जहां जय मंगल सिंह उर्फ अनूप सिंह की पहल रंग लाई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.