• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

बेटों ने माँ को ठुकराया लालमणि विघ्दा सेवा आश्रम ने अपनाया

1 min read

(धनबाद)

बेटों ने माँ को ठुकराया लालमणि विघ्दा सेवा आश्रम ने अपनाया…..!

धनबाद:/छोटे खान–कहते है बुढ़ापे का सहारा एक माँ और पिता का उसका औलाद होता है पर यहाँ समय बदल गया है कुछ लोग इतने गिर जाते है के अपने माँ और पिता का साथ छोड़ देते है और उसे घर से बेघर भी कर देते है ऐसा ही एक वाकया झारखंड के धनबाद सहर में देखने को मिला जी हा आप को बतादे एक दुखयारी माँ की
यह कहानी है उस महिला की है। जिसने अपने पति के मरने के बाद मेहनत मजदूरी कर अपने पांच बेटो पालती पोस्ती है । अपने बेटों की ख़ुशी के लिए दूसरों के घर बर्तन  भी धोती है । लेकिन जब पांचों बेटे बड़े हो गये तो उस महिला को मार पीट कर घर से यह कहकर निकाल दिया कि तुम मेरे लिए क्या किये हो उस महिला ने आखो में आंसू लिये वहा से चली गयी और अब वह इधर उधर भीख माँगकर अपना गुजर बसर कर रही थी तभी ये ख़बर जब लालमणि विध्दा सेवा आश्रम के अध्यक्ष मो नौशाद गद्दी को पता चला तो वह कतरास ।छाताबाद 5 नंबर गए और उस  वृद्ध महिला सावित्री देवी उम्र 70 वर्ष को अपने साथ आश्रम ले आये । वही आश्रम के अध्यक्ष मो0 नौशाद गद्दी ने कहा कि हमारा आश्रम हमेशा वेबस एवं बेसाहारा विद्धा लोगों की सेवा में ही रहता है। लेकिन हम हाथ जोड़कर आप सभी से प्राथाना करते है कि कृपया अपने माँ बाप को धोखा ना दे..!

माँ बाप मेहनत कर अपने बेटे को पढ़ाते लिखाते है।हर एक छोटी सी छोटी खोवाईस को पूरा करते है अपने को भूखा रहकर अपने बेटे की जरूरत को पूरा करते है और वही बेटा बड़ा होकर अपने माँ बाप को घर सें यह कहकर निकाल देते है की आप मेरे लिए किया किए । इसलिय  हाथ जोड़कर प्राथाना है कि अपने माँ बाप को घर से ना निकाले ।वही दुखयारी माँ सावित्री देवी ने कहा कि मैं आश्रम आ कर बहुत खुश हूं । वही इस अवसर पर सुरेंद्र यादव  विजय सिन्हा  सुबल सिंह  शांति मुख्य रूप से उपस्थित थे ।NEWSTODAYJHARKHAND.COM

Leave a Reply

Your email address will not be published.