• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

बुर्के के साथ घुंघट तथा चेहरा ढंकने वाले सभी प्रसाधनों पर लगे प्रतिबंध!

1 min read

लेख डेस्क।

बुर्के के साथ घुंघट तथा चेहरा ढंकने वाले सभी प्रसाधनों पर लगे प्रतिबंध!

( ओमप्रकाश)

नई दिल्ली। पिछले दिनों श्रीलंका में हुए आतंकी विस्फोटों और उनमें भारी नरसंहार के बाद श्रीलंका सरकार ने चेहरा ढंकने वाली हर वस्तु पर प्रतिबंध लगा दिया है, जिसमें मुसलमानों का बुर्का हिन्दूओं का घुंघट भी शामिल है, यही नहीं दो पहिया वाहन के उन चालकों पर भी प्रतिबंध लगा दिया है जो अपना चेहरा कपड़े से ढंक कर वाहन चलाते है।Image result for बुर्के के साथ घूंघट तथा चेहरा ढकने वाले सभी प्रसाधनों पर लगे प्रतिबंध! वैसे इतनी बड़ी आतंकी घटना के बाद ऐतिहात के बतौर श्रीलंका सरकार द्वारा उठाया गया यह कदम गलत नहीं है, किंतु अब भाजपा के ही एक सहयोगी संगठन शिवसेना ने भारत में भी इसी तरह का प्रतिबंध लगाने की मांग यह कहकर की है कि जब रावण की लंका यह कदम उठा सकती है तो राम की अयोध्या वाला यह हमारा देश यह कदम क्यों नहीं उठा सकता? चूंकि मोदी सरकार की बदौलत भारत पिछले पांच साल से बड़ी आतंकी घटना से अछूता रहा है इसलिए यहां चुनाव में मुंह ढंक कर फर्जी वोटिंग की आशंका का सहारा लेकर यह मांग उठाई जा रही है। शिवसेना ने अपने मुखपत्र ‘‘सामना’’ की सम्पादकीय में इस मुद्दे को उठाते हुए उक्त मांग की गई है, यद्यपि आरोपों के घेरे में घिरने के बाद शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने यह सफाई अवश्य दी कि यह अखबार और उसके सम्पादक की धारणा है पार्टी की नहीं? क्योंकि पार्टी फोरम पर कभी भी इस विषय में चर्चा कर ऐसा कोई फैसला नहीं लिया गया।Image result for बुर्के के साथ घूंघट तथा चेहरा ढकने
यद्यपि भाजपा ने इस मांग को सिरे से खारिज कर दिया, क्योंकि यह इस्लाम धर्म से जुड़ा मामला था और इस चुनावी माहौल में भाजपा मुस्लिम वोट का खतरा उठाना नही चाहती, वैसे ही इस हिन्दूवादी पार्टी को मुस्लिम वोट कम ही मिलने की संभावना व्यक्त की जा रही है, किंतु सत्तारूढ़ भाजपा वह भी खतरा उठाना नहीं चाहती, इसलिए उसने अपने सहयोगी दल के मुखपत्र की सम्पादकीय के प्रति असहमति व्यक्त कर दी।

यहाँ यह भी उल्लेखनीय है कि भारत में तो यह मुद्दा अब सामने आया है, या लाया गया है, जबकि एक दर्जन से भी अधिक देशों में तो चेहरा ढंककर चलने या सरकारी कार्य में भागीदारी करने पर दो दशक पहले से प्रतिबंध है, कुछ देशों में आंशिक क्षेत्रों में है तो कुछ में पूरे देश में? किंतु इन एक दर्जन देशों में बुर्के या घुंघट को लेकर आज तक कोई विवाद नहीं हुए तो फिर हमारे ही देश में इस मुद्दे को महत्व क्यों दिया जा रहा है?

NEWSTODAYJHARKHAND.COM

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ट्रेंडिंग खबरें