बीसीसीएल प्रबंधन के खिलाफ निजी वाहन मालिकों ने किया चक्का जाम, मांगें नहीं मानी गयी तो 21 को करेंगे सामूहिक आत्मदाह।

0
78

धनबाद।

बीसीसीएल प्रबंधन के खिलाफ निजी वाहन मालिकों ने किया चक्का जाम, मांगें नहीं मानी गयी तो 21 को करेंगे सामूहिक आत्मदाह।

धनबाद। भारत कोकिंग कोल लिमिटेड में आउटसोर्सिंग में चलने वाले निजी वाहन मालिकों ने कोयलांचल वाहन ऑनर एसोसिएशन के बैनर तले पूर्व घोषित कार्यक्रम के तहत आज से चक्का जाम आंदोलन शुरू कर दिया है।
बताते चलें कि बीसीसीएल एरिया 1 से 12 तक में चल रहे लगभग 425 वाहनों के साथ वाहन मालिकों ने बीसीसीएल मुख्यालय कोयला भवन में आंदोलन शुरू कर दिया है। उक्त वाहनों में कई एम्बुलेंस भी शामिल है। जानकारी के अनुसार चक्का जाम आंदोलन के तहत वाहन मालिकों ने एम्बुलेंस की सेवा भी रोक दी है। वहीं वाहन मालिकों के इस आंदोलन से बीसीसीएल प्रबंधन के लिए बड़ी मुसीबत बन सकती है। बताते चलें कि वाहन मालिक अपनी दो प्रमुख मांगो की पूर्ति को लेकर आंदोलन पर है। एसओआर कॉन्ट्रैक्ट अग्रीमेंट को अगले पांच वर्षों के लिए रिनुअल करने तथा वर्तमान में कंपनी में चल रही गाड़ियों को अगले दो वर्षों के लिए एक्सटेंशन देने की मांग कर रहे है। उक्त अवसर पर एसोसिएशन के अध्यक्ष उदय शंकर दुबे ने कहा कि बीसीसीएल प्रबन्धन कहती है एसोसिएशन की मांग को बोर्ड में रखा गया है। सभी मांगे बोर्ड से ही पारित होंगी। बार बार प्रबन्धन को पत्राचार करके मांगो से अवगत कराया जा रहा है। मांगो पर कोई पहल नही हो रही। उपरोक्त मांगे पूरी नही होने की स्थिति में वाहन मालिक बेरोजगार हो जाएंगे। कई वाहन मालिक बैंक से कर्ज लेकर गाड़िया बीसीसीएल में चला रही है। इस परिस्थिति में सभी की जीविका उपार्जन खतरे में आ जायेगा। उन्होंने कहा कि इस चक्का जाम के बाद भी अगर कोई निष्कर्ष नहीं निकलता है तो आगामी 21 जुलाई को इसी बीसीसीएल मुख्यालय पर वाहन मालिक सामूहिक रूप से आत्मदाह कर लेंगे।

NEWSTODAYJHARKHAND.COM

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here