• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

बीआरडी मेडिकल कालेज गोरखपुर के पीड़ितों को मिले मुआवजा। क्लिक कर पढ़ें पूरी खबर……

1 min read

झरिया।

बीआरडी मेडिकल कालेज गोरखपुर के पीड़ितों को मिले मुआवजा। क्लिक कर पढ़ें पूरी खबर……

झरिया। बीआरडी मेडिकल कालेज गोरखपुर मे विगत वर्ष 2017 मे कथित आक्सीजन की कमी के कारण हुई बच्चो की मौत मामले को लेकर कालेज के निलंबित प्रवक्ता डा कफिल खान ने झरिया मे पत्रकारो से वार्ता की। रविवार को झरिया प्रेस क्लब मे पत्रकारो से बात करते हुए डा खान ने बताया कि सात मार्च 2019 को माननीय ईलाहबाद उच्च न्यायालय ने यूपी सरकार को निर्देष दिया था कि जिसमे कफिल खान को निलंबन के खिलाफ तीन महिने की भीतर ही विभागीय जाच पूरी करने की बात कही गई थी। पर ऐसा नही हुआ। 18 महिने से यह विभागीय जाच जारी हैं। गौरतलब हो कि बीआरडी मेडिकल कालेज मे आक्सीजन की कमी के कारण बच्चो की मौत हुई थी।

देष मे इस घटना को लेकर काफी चर्चा हुई। जिस पर यूपी के मुख्यमंत्री श्री योगी ने दावा किया था कि उक्त महाविद्यालय मे आक्सीजन की कमी नही थी। जबकि इसी सरकार ने हाईकोर्ट मे हलफनामा दायर किया जिसमे आक्सीजन की कमी की बात कही गई। 30 अप्रैल 2018 को माननीय उच्च न्यायालय ले अपने फैसले मे कहा था कि उक्त मेडिकल कालेज मे तरल आक्सीजन की आपूर्ति मे बाधा इसलिए आई थी कि आपूर्ति कर्ता को बकाया राषि पूरी नही की गई थी। डा खान ने बताया कि आरटीआई मे यूपी गवमेन्ट ने स्वीकार किया कि 11, 12 अगस्त 2017 को 54 घण्टे तक बीआरडी मेडिकल कालेज मे तरल आक्सीजन की कमी थी।

साथ ही डा खान ने बच्चो को बचाने के लिए जंबो आक्सीजन सिलेण्डर की व्यवस्था की थी। डा खान ने इस घटना मे षिकार बने बच्चो के माता पिता के प्रति संवदेना व्यक्त किया। साथ ही उन्होने पीड़ित परिवार को मुआवजा देने की मांग सरकार से की हैं। डा खान ने बताया कि भारत के स्वास्थ्य प्रणाली मे एक बड़ी सुधार की जरूरत हैं। उन्होने इसके लिए स्वस्थ भारत नामक कैंपेन चलाया हैं। जिसमे 08033094222 पर मिस्ड काल देकर कोई भी जुड़ सकता हैं।

NEWSTODAYJHARKHAND.COM

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ट्रेंडिंग खबरें