बिहार में दूसरा एम्स के निर्माण के लिए मोदी सरकार ने किया था ऐलान, जमीन नहीं दी नीतीश सरकार ने । क्लिक कर पढ़ें पूरी खबर……

0
43

पटना।

बिहार में दूसरा एम्स के निर्माण के लिए मोदी सरकार ने किया था ऐलान, जमीन नहीं दी नीतीश सरकार ने । क्लिक कर पढ़ें पूरी खबर……

पटना। बिहार में दूसरा नया एम्स बनाने के लिए केन्द्र ने जमीन मांगी थी लेकिन चार साल बाद भी नीतीश सरकार राज्य में ज़मीन आवंटित नहीं कर पाई।Related image इसके बाद भारत सरकार ने दरभंगा मेडिकल कालेज एंड हास्पिटल को ही एम्स की तर्ज़ पर अपग्रेड करने का फैसला किया। यह महत्वपूर्ण है कि 28 नवंबर 2014 को स्वास्थ्य मंत्रालय ने पीएमएसएसवाय के तीसरे चरण में जिन 39 अस्पतालों को अपग्रेड करने का फैसला किया था उसमें दरभंगा अस्पताल भी शामिल था।

बिहार में दिमागी बुखार के कहर से वहां की चरमराती स्वास्थ्य व्यवस्था का सच सामने आ गया है। हैरानी की बात यह है कि चार साल पहले मोदी सरकार ने बिहार में दूसरा एम्स खोलने का ऐलान किया था लेकिन बिहार सरकार इसके लिए जरूरी जगह मुहैया नहीं करा पाई। Image result for दूसरा एम्स के निर्माण के लिए जमीन नहीं दी नीतीश सरकार नेसाल 2015-16 के अपने बजट भाषण में तत्कालीन वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बिहार में एक नया एम्स खोलने का ऐलान किया था। इसके बाद स्वास्थ्य मंत्रालय ने बार-बार बिहार सरकार से गुज़ारिश की कि 3-4 वैकल्पिक जगहों की जानकारी दें, लेकिन चार साल तक नीतीश सरकार इसकी पहचान ही नहीं कर पाई। 19 दिसंबर 2017 को राज्य सभा में दिए लिखित जवाब में स्वास्थ्य राज्यमंत्री अश्विनी चौबे इस बात की पुष्टि कर चुके हैं।

जब राज्य सरकार ने जमीन नहीं दी तो तत्कालीन स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने लोकसभा चुनावों से ठीक पहले दो मार्च, 2019 को पटना में दरभंगा हास्पिटल को दूसरे एम्स के तर्ज़ पर विकसित करने का ऐलान कर दिया।

बुधवार को आयुष मामलों के केन्द्रीय मंत्री श्रीपद नायक ने कहा अगर बिहार सरकार ने समय पर ज़मीन दे दी होती तो आज बिहार में एक नया एम्स बन रहा होता और दिमागी बुखार जैसी बीमारियों से लड़ने की क्षमता और मज़बूत होती। ख़बर थी कि स्वास्थ्य राज्यमंत्री अश्विनी चौबे अपने गढ़ भागलपुर में नया एम्स खुलवाना चाहते थे जबकि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इसके लिए तैयार नहीं थे।

NEWSTODAYJHARKHAND.COM

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here