• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

बिहार में चमकी बुखार से अब तक 141 की मौत। क्लिक कर पढ़ें पूरी खबर………

1 min read

पटना।

बिहार में चमकी बुखार से अब तक 141 की मौत। क्लिक कर पढ़ें पूरी खबर………

मुजफ्फरपुर। बिहार में चमकी बुखार से मासूमों की मौतों का सिलसिला फिर से शुरू हो गया है। राज्य के मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार ने फिर से कहर बरपाया है।Image result for बिहार में चमकी बुखार से अब तक 141 की मौत यहां के सबसे बड़े एसकेएमसीएच अस्पताल में चमकी बुखार से पीड़ित 3 और बच्चों ने दम तोड़ दिया है। इसके साथ ही एसकेएमसीएच में मौत का आंकड़ा 141 तक जा पहुंचा है। मरने वाले ये सभी बच्चे एसकेएमसीएच अस्पताल में गंभीर हालत में भर्ती थे।

मंगलवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने विधानसभा में कहा था कि सरकार चमकी बुखार से हो रही मौतों को लेकर पूरी तरह से संवेदनशील है। सदन में जवाब देते हुए सीएम नीतीश ने कहा कि सरकार डॉक्टरों और नर्स की कमी पर काम कर रही है। जिलों में नर्सिंग कॉलेज खुल रहे हैं लेकिन बच्चों की मौत के कारणों को विशेषज्ञ भी अभी तक नहीं जान पाए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि लक्षणों के आधार पर ही बच्चों का इलाज किया जा रहा है।

मुज़फ़्फ़रपुर के मामले में सरकार ने पूरी गंभीरता से काम किया है और सभी मृतकों के सोशल इकनॉमिक ऑडिट करने का हमने निर्देश दिया है। नीतीश कुमार ने कहा कि जो भी बच्चे मरे हैं वो सभी लगभग गरीब परिवारों से आते हैं। जिनका जमीन नहीं है उन्हें 60 हजार अनुदान जमीन के लिए मिलेगा।Image result for बिहार में चमकी बुखार से अब तक 141 की मौत जागरूकता पर जोर देते हुए सीएम नीतीश ने कहा कि बीमारी से बचाव के लिए अभी भी जागरूकता की कमी है। मुज़फ़्फ़रपुर में गहनता के साथ जांच की जरूरत है। कई परिवार ऐसे भी हैं जिनके पास अभी राशन कार्ड नहीं है।बता दें कि बिहार में चमकी बुखार से अब तक 180 बच्चों की मौत हो चुकी है। बिहार में चमकी बुखार का कहर 12 जिलों में है लेकिन इसका सबसे ज्यादा असर मुजफ्फरपुर में है।

NEWSTODAYJHARKHAND.COM

Leave a Reply

Your email address will not be published.