बाल दुर्व्यवहार मुक्त भारत विषय पर जन-संवाद का आयोजन

(जमशेदपुर)

बाल दुर्व्यवहार मुक्त भारत विषय पर जन-संवाद का आयोजन……

जमशेदपुर:-कैलाश सत्यार्थि फाउंडेशन तथा पूर्वी सिंहभूम जिले की स्वयंसेवी संस्थाओं के संयुक्त तत्वाधान एवं जिला प्रशासन के सहयोग से आज बाल दुर्व्यवहार मुक्त भारत विषय पर जन-संवाद का आयोजन माइकल जॉन सभागार बिष्टुपुर में किया गया। कार्यक्रम का उद्देश्य पूर्वी सिंहभूम में जागरूकता अभियान चलाकर लोगों को बाल श्रम, बाल शोषण, बाल यौन शोषण, बाल तस्करी/व्यापार रोकने के लिए प्रशासन से जनता तक हर व्यक्ति को इस समस्या के प्रति जागरूक करना था कैलाश सत्यार्थी चिल्ड्रेन फाउंडेशन के निदेशक ओमप्रकाश ने विषय प्रवेश कराते हुए अपने संबोधन में कहा कि हमारे पारंपरिक सामाजिक व्यवस्थाओं में बाल यौन शोषण के मुद्दे को कभी संबोधित नहीं किया गया, उस पर कभी बात नहीं की गयी| उन्होंने बाल शोषण को परिभाषित करते हुए बताया कि बच्चों के साथ की गयी किसी प्रकार की हिंसा, दुर्व्यवहार और उपेक्षा बाल शोषण के अंतर्गत आता है| बाल शोषण एक बच्चे के बुनियादी मानवाधिकार का घोर उल्लंघन है|जिला बाल संरक्षण पदाधिकारी डॉ.चंचल कुमारी ने बाल दुर्व्यापार / मानव तस्करी के लिए सरकार द्वारा बनाए गये कानूनों और उसके प्रावधानों को बताया। उन्होंने बताया कि जिले में 18 बाल मित्र थाने हैं और उनका विभाग मामले की जानकारी प्राप्त होने पर उसका निपटारा विभिन्न विभागों के समन्वय से जल्द से जल्द करने का प्रयास करता है| उन्होंने संवाद के दौरान Helpline No. 1098 की जानकारी दी जिसपर 24×7 ऐसे मामले की जानकारी दी जा सकती हैकरीम सिटी कॉलेज के मास कम्यूनिकेशन की विभागाध्यक्ष नेहा तिवारी ने कहा कि इस मुद्दे पर आपातकाल जैसी स्थिति है। सिर्फ बात करने से नहीं बल्कि इस मुद्दे पर क्रियाशील होना जरूरी है। समस्या पर चर्चा से बेहतर होगा हम रचनात्मक तरीके से ठोस उपाय समाज, सरकार एवं न्यायपालिका के सामने रखें। हमें सोचना होगा कि बच्चों में चारित्रिक सामर्थ्य कैसे पैदा करें, हमें नैतिक मूल्यों को ताकत देना होगा।श्रम प्रवर्तन अधिकारी संदीप कुमार ने बाल मजदूरी के बारे में सरकार के दिशा-निर्देश और श्रम कानून की जानकारी दी| उन्होंने बताया कि उनका विभाग बाल मजदूरी कराने वालों के खिलाफ काफी सख्त है और ऐसे अपराध को रोकने के लिए समाज के सभी वर्ग को आगे आने की आवश्यकता है |श्रम अधीक्षक, पूर्वी सिंहभूम रमेश प्रसाद सिंह ने सरकार द्वारा असंगठित क्षेत्र के मजदूरों हेतु चलाई जाने वाली जनकल्याणकारी योजनाओं के बारे में बताया साथ ही बच्चों के लिए चाइल्ड लाइन सेवा 1098 के बारे में जानकारी दी

उन्होने बताया कि यह 24 घंटे क्रियान्वित मुफ्त आपातकालीन फोन सेवा है। उन्होने अपना फोन नंबर भी उपस्थित लोगों के बीच साझा किया ताकि किसी घटना की त्वरित सूचना उन्हें प्राप्त हो सके एवं संबंधितों पर अविलंब कार्रवाई सुनिश्चित की जा सके।डीएसपी (हेडक्वार्टर– ll) अरविन्द कुमार ने अपने संबोधन में कहा कि ऐसे विषय पर समाज को अपनी चुप्पी तोड़ने की जरुरत है और पुलिस तक इसकी सूचना देनी चाहिए| इस प्रकार समाज से ऐसी बुराई को कम किया जा सकता है ।कार्यक्रम के दौरान बाल दुर्व्यवहार/मानव तस्करी पर धालभूमगढ़, जमशेदपुर तथा पोटका प्रखंड के तीन मामले को Case Study के लिए सामने रखा गया|इस परिचर्चा में कैलाश सत्यार्थी चिल्ड्रेन फाउंडेशन के ओमप्रकाश ने तीन बिन्दुओं पर जोर दिया।किसी भी प्रकार के बाल अपराध के लिए दर्ज की जाने वाली FIR, Legal Action तथा Rehablitation (पुनर्वास) की जिम्मेदारी फाउंडेशन वहन करेगा।बाल अपराध से निपटने के लिए जिले में शीघ्र ही Activists के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम आरम्भ किया जायेगा बालदुर्व्यापार/मानव तस्करी जैसी बुराई समाज में कम हो इसके लिए फाउंडेशन बाल फिल्म बनाने तथा पंपलेट बनाने में सहयोग करेगा| कार्यक्रम के सफल संचालन में कलामंदिर के उपाध्यक्ष अमिताभ घोष, नाट्यकर्मी मो. निजाम ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। इस अवसर पर वयोवृध्द स्वयंसेवी अंजलि बोस, पूर्वी सिंहभूम के अन्य स्वयंसेवी संस्थाओं की प्रतिनिधि पुरबी पाल-श्रमजीवी महिला समिति, निर्मला शुक्ला-कलामंदिर संयुक्ता चौधरी- संस्कृति, धालभुमगढ़ प्रखंड के सामाजिक कार्यकर्ता कमलकांत गोप,राँची के* *प्रतिज्ञा संस्थान के अजय कुमार, विभिन्न प्रखंडों से आए ग्रामीण उपस्थित थे।NEWSTODAYJHARKHAND.COM

Capture 2021-07-28 22.36.12
Capture 2021-08-17 12.13.14 (1)
Capture 2021-08-06 12.06.41
Capture 2021-08-19 12.34.03
Capture 2021-07-29 11.29.19
Capture 2021-08-17 14.20.15 (1)
Capture 2021-08-10 13.15.36
Capture 2021-08-05 11.23.53
Capture 2021-09-09 09.03.26
Capture 2021-09-16 12.44.06

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here