• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

बरवाडीह खबर:मंडल डेम परियोजना की लाइफ लाइन बरवाडीह-मंडल रोड का हाल बदहाल,चुनावी मुद्दा बन कर रह गई बरवाडीह-मंडल रोड…

1 min read

बरवाडीह खबर:मंडल डेम परियोजना की लाइफ लाइन बरवाडीह-मंडल रोड का हाल बदहाल,चुनावी मुद्दा बन कर रह गई बरवाडीह-मंडल रोड…

>>>बरवाडीह-मंडल रोड जर्जर…हर बार केवल बन कर रह जाता है चुनावी मुद्दा…

NEWSTODAYJ_बरवाडीह खबर:-बंद पड़ी,बहुप्रतीक्षित मंडल डेम परियोजना की लाइफ लाइन कही जाने वाली बरवाडीह-मंडल रोड अपनी अंतिम साँसे गिन रही है।इस सड़क के दोनों ओर लगभग आधे दर्जन से प्रखंड मुख्यालय का सुदूरवर्ती गाँव लगे है।इन सभी सुदूरवर्ती गांवो के लोगो का प्रखंड मुख्यालय पहुँचने का एक मात्र सड़क है,जो आज पूरी तरह से खस्ता हाल एवं जर्जर हो चुका है।बरसात के मौसम में स्थिति बद से बत्तर हो जाती है।इस क्षेत्र में रहने वाले लोगो का दैनिक जीवन एवं व्यवसायिक कार्य साथ-साथ स्वास्थ्य संबंधी आवश्यकताओं एवं जरूरतों को पूरा करने के लिए इस सड़क से आते जाते है।

यह भी पढ़ें…Dhanbad news:रेड क्रॉस सोसाइटी में आज 45+ से ऊपर वाले 200 लोगों को लगा वैक्सीन,वैक्सीन की उपलब्धता नहीं होने के कारण कल नही लगेगी वैक्सीन

पर आज यह स्थिति है कि अगर किसी को स्वास्थ्य संबंधी समस्या हो तो समय पर एम्बुलेन्स नही पहुँच सकता।बताते चले कि यह रोड बरवाडीह-मंडल होते हुए भंडरिया भाया छत्तीसगढ़ के रामानुजगंज से जोड़ता है जो व्यावसायिक एवं सामरिक दृष्टिकोण से महत्वपूर्ण हैं।लोगो की माने तो बरवाडीह से रामानुजगंज इस क्षेत्र से मात्र पैसठ किलोमीटर रह जाती है।जो झारखंड एवं छत्तीसगढ़ के सीमावर्ती क्षेत्रों में रहने वाले लोगो के सांस्कृतिक एवं रोजगार के नये दरवाजे खोल सकती है।लेकिन यह विडंबना ही है कि हर बार बरवाडीह-मंडल रोड चुनावी मुद्दा तो बनता है पर उसके बाद नेताओं को न अपना चुनावी वायदा याद रहता है न लोगो की समस्याओं पर नज़र। चुनाव जीतने के बाद दिल्ली व राँची में आसान लगाकर अगले पांच साल के लिए बैठ जाते है।

मालूम हो कि इस सड़क का निर्माण 1967 में, यानी आज से लगभग 51 साल पहले नरेगेशन डिपार्टमेंट के माध्यम से हुआ था, इसके बाद यह रोड पीडब्लूडी के अधीन चला गया।लेकिन पिछले 30 वर्षों से यह रोड जर्जर स्थिति में है।जिस कारण हर समय दुर्घटनाओं की संभावनाएं बनी रहती है।

यह भी पढ़े …Dhanbad news: जर्जर भवन एवं अन्य कारणों से मतदान केंद्रों का नाम एवं भवन परिवर्तन को लेकर पार्षद प्रत्याशी ने की प्रेस वार्ता, लोगों की परेशानियों को देखते हुए धनबाद उपायुक्त से की मांग

वही प्रखण्डवासियों से चुने हुये जनप्रतिनिधियों के साथ केंद्र सरकार एवं राज्य सरकार से अपील की है कि बरवाडीह-मंडल रोड हरहाल बनना चाहिये,क्योकि जनता सभी जनप्रतिनिधियों की क्रियाकलापों को बड़ी गहनता के साथ देख रही है।

इसके साथ ही इस मार्ग पर झारखंड की बंद पड़ी बहुप्रतीक्षित मंडल डेम परियोजना भी स्थित है।जिसका शिलान्यास देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा लगभग 2 वर्ष पूर्व ऑनलाइन शिलान्यास किया गया था ।इस क्षेत्र के लोग इन दोनों परियोजनाओं को लेकर अभी आशान्वित है।

जरूरत हैं एक मजबूत राजनीतिक इक्षाशक्ति कि ना कि ढुलमुल रवैये की।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ट्रेंडिंग खबरें