• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

बजट सत्र चढ़ी हंगामे की भेंट कांग्रेस ने धरना प्रदर्शन कर माँगा गृह मंत्री का इस्तीफा

1 min read

बजट सत्र चढ़ी हंगामे की भेंट कांग्रेस ने धरना प्रदर्शन कर माँगा गृह मंत्री का इस्तीफा

NEWS TODAY- संसद के बजट का दूसरा सत्र के शुरू होते ही दिल्ली हिंसा को लेकर विपक्ष का हंगामा शुरू हो गया. हालात को देखते हुए स्पीकर ओम बिरला ने बिहार के बाल्मीकि नगर क्षेत्र से सांसद बैजनाथ महतो को श्रद्धांजलि देने के बाद लोकसभा को दो बजे तक के लिए स्थगित कर दियाl

ये भी पढ़े-दिल्ली हिंसा पर दाखिल PIL पर CJI ने कहा हमारी शक्तियों की सीमाएं हैंl

हालांकि, दिल्ली में स्थिति तो सामान्य होने लगी है, लेकिन संसद सत्र में राजनीति गरमाने लगी है. एक ओर विपक्षी दल जहां एकजुट होकर दिल्ली हिंसा और अर्थव्यवस्था को लेकर सरकार को घेरने की फिराक में है. कांग्रेस की ओर से सदन में दिल्ली हिंसा पर चर्चा कराने की मांग की गई. संसद परिसर में कांग्रेस ने धरना प्रदर्शन किया और गृहमंत्री अमित शाह के इस्तीफे की मांग कीl

सदन के शुरु होने से पहले आरजेडी के राज्यसभा सदस्य मनोज झा ने साफ-साफ कहा कि ऐसी घटनाओं पर संसद मूकदर्शक बनी नहीं रह सकती है. हम मिलजुलकर अपनी आवाज उठाएंगे. इस मसले पर कांग्रेस और अन्य विपक्षी दल पहले ही राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को ज्ञापन देकर अपना विरोध जता चुके हैं. सरकार भी विपक्ष के आक्रमण का जवाब देने की रणनीति तैयार कर रही है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह पहले ही कई बार नागरिकता कानून को वापस लेने की मांग को पूरी तरह खारिज कर चुके हैंl

गौरतलब है कि संसद के दूसरे चरण की बैठक तीन अप्रैल तक चलेगी. इस दौरान आम बजट को पारित करने की बाकी प्रक्रियाओं को पूरा किया जाएगा. बजट सत्र की शुरुआत 31 जनवरी को दोनों सदनों की संयुक्त बैठक में राष्ट्रपति के अभिभाषण से हुई थी. बजट सत्र का पहला चरण 11 फरवरी को पूरा हो गया थाl

Leave a Reply

Your email address will not be published.