बच्ची का शव हाथों में टांगे घंटों भटकता रहा लाचार पिता, नहीं मिला कोई वाहन। पढ़ें पूरी खबर……..

0
http://newstodayjharkhand.com/wp-content/uploads/2018/05/PicsArt_05-23-01.04.13.jpgItalian Trulli WELCOME TO NEWS TODAY JHARKHAND Italian Trulli

साहेबगंज।

बच्ची का शव हाथों में टांगे घंटों भटकता रहा लाचार पिता, नहीं मिला कोई वाहन। पढ़ें पूरी खबर……..

साहेबगंज। साहेबगंज में एक पिता अपनी छोटी बच्ची के शव को हाथों में टांगे घंटों भटकता रहा लेकिन उसे शव को ले जाने के लिए कोई वाहन नहीं मिला। बताते चलें कि खबर के अनुसार राजमहल के पांचू टोला में घर की दीवार गिरने से एक बालिका गंभीर रूप से घायल हो गयी थी। उसे इलाज के लिए राजमहल अनुमंडलीय अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां से चिकित्सकों ने बच्ची को बेहतर इलाज के लिए सदर अस्पताल रेफर कर दिया। परिजन बालिका को 108 वाहन से सदर अस्पताल ला रहे थे। परिजनों का कहना है कि तालझारी के करीब ही बालिका की मौत हो गयी जिसकी जानकारी वाहन में बैठी सहिया वाहन कर्मी को देती है। मगर कर्मियों ने बच्ची के परिजनों को ऑक्सीजन चलने की बात बताते हुए सदर अस्पताल पहुंचाया। जहां चिकित्सक तरुण कुमार ने बालिका को मृत घोषित कर दिया। वहीं इस बात की जानकारी मिलते ही बच्ची के माता-पिता रोने लगे और शव को वापस राजमहल ले जाने का अनुरोध करने लगे। लेकिन नियम कानून की दुहाई देते हुए शव को वाहन से उतार दिया गया। सहिया अजमीरा बीबी ने बताया कि वाहन कर्मी ने मानवता की दुहाई देने के बावजूद उसकी एक ना सुनी। वैसे भी वाहन को वापस खाली राजमहल ही जाना था। मगर बच्ची के शव को नहीं ले गया। वहीं अंत में बालिका के पिता शव को लेकर वाहन के लिये घंटों भटकते रहे। काफी देर बाद शव को टोटो रिक्शा से राजमहल ले गये। वहीं मामले की जानकारी मिलने के बाद प्रभारी डीएस डॉ मोहन पासवान ने कहा कि मानवता को शर्मसार करने वाली घटना है। उन्हें सूचना होती तो अपने स्तर से वाहन उपलब्ध करा कर शव को राजमहल भेजने का प्रबंध करते। उन्होंने बताया कि 108 वाहन से शव ले जाने का नियम नहीं है। परन्तु विकट परिस्थिति में मानवता के आधार पर शव ले जाया जा सकता था।

Italian Trulli

NEWSTODAYJHARKHAND.COM

Italian Trulli

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here