• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

प्रियंका गांधी ने यूपी पुलिस पर बदसलूकी का लगाया आरोप-पुलिस ने नाकारा

1 min read

प्रियंका गांधी ने यूपी पुलिस पर बदसलूकी का लगाया आरोप-पुलिस ने नाकारा

NEWS TODAY :: CAA मामले में जेल में बंद रिटायर्ड पुलिस अधिकारी और सामाजिक कार्यकर्ता एसआर दारापुरी के घर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी अपने दो दिवसीय दौरे पर लखनऊ में हैंl  इस दौरान शनिवार को जब वो उनके घर जा रही थीं तो स्थानीय पुलिस ने उनके काफिले को रोक दियाl जिसके बाद प्रियंका गाड़ी से उतर कर पैदल ही उनके घर की ओर निकल पड़ींl पुलिस-प्रशासन और उनकी सुरक्षा दस्ते को जब तक कुछ समझ आता प्रियंका गांधी पैदल मार्च करते चल पड़ींl लेकिन प्रियंका गांधी का आरोप है कि इस दौरान उत्तरप्रदेश कि पुलिस ने उनके साथ ज्यादती कीl

वहीं प्रियंका के आरोप पर एसएसपी लखनऊ ने बयान जारी करते हुए कहा कि गला पकड़ने और गिराने की बात पूरी तरह से गलत है. सीओ ने प्रियंका गांधी से दौरे की जानकारी मांगी थी, कांग्रेस नेताओं ने दौरे की जानकारी देने से मना कियाl सूत्रों कि माने तो तकरीबन 4 से 5 किलोमीटर पैदल चलकर प्रियंका गांधी एस आर दारापुरी के घर पहुंचींl हालांकि इस दौरान कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के साथ लखनऊ पुलिस द्वारा अभद्रता किए जाने के आरोप भी लगेl
प्रियंका गांधी ने अपने ऑफिसियल फेसबुक वाल पर पुलिस ज्यादतियों पर लिखा, “उप्र पुलिस की ये क्या हरकत है. अब हम लोगों को कहीं भी आने जाने से रोका जा रहा हैl

मैं रिटायर्ड पुलिस अधिकारी और सामाजिक कार्यकर्ता एस आर दारापुरी के घर जा रही थी. उप्र पुलिस ने उन्हें एनआरसी और नागरिकता कानून का शांतिपूर्वक विरोध करने पर घर से उठा लिया हैl मुझे बलपूर्वक रोका और महिला अधिकारी ने मेरा गला पकड़ कर खींचा. मगर मेरा निश्चय अटल है. मैं उत्तर प्रदेश में पुलिस दमन का शिकार हुए हरेक नागरिक के साथ खड़ी हूंl मेरा सत्याग्रह हैl भाजपा सरकार कायरों वाली हरकत कर रही हैl मैं उत्तर प्रदेश की प्रभारी हूं और मैं उत्तर प्रदेश में कहां जाऊंगी ये भाजपा सरकार नहीं तय करेगीl

Leave a Reply

Your email address will not be published.