प्रतिभा की धनी अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल खिलाड़ी पर लॉकडाउन बना संकट – प्रशासन ने बढ़कर करवाया राशन उपलब्ध

1 min read

प्रतिभा की धनी अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल खिलाड़ी पर लॉकडाउन बना संकट – प्रशासन ने बढ़कर करवाया राशन उपलब्ध

NEWS TODAY (रंजीत कुमार सिन्हा)भूली- कहते हैं प्रतिभा किसी का मोहताज नहीं फिर चाहे प्रतिभा किसी बड़े घराने से हो या फिर छोटे से गांव में रहने वाले लोगों की हो ऐसी ही पर्तिभा की धनी 19 साल की उम्र में भूली से सटे एक छोटे से गांव बांसमुरी की रहने वाली संगीता और उसके परिवार के साथ भूख से तड़पने की नौबत आ गई इसके बाद सूचना मिलते ही भूली ओपी प्रभारी गंगासागर ओझा ने उस 19 वर्षीय अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल खिलाड़ी संगीता का हौसला ही नहीं बढ़ाया बल्कि उसकी सहायता के लिए हाथ भी बढ़ाये और उनके जीविकोपार्जन के लिए राशन भी उपलब्ध कराया। गौरतलब है कि कोरोना को लेकर लॉक डाउन की स्थिति में दैनिक मजदूरों को विकट परिस्थितियों का सामना करना पड़ रहा है। बाँसमुरी बस्ती में रहने वाली 19 वर्षीय अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल खिलाड़ी संगीता कुमारी का परिवार पिछले चार दिनों से माड़ भात खाने को मजबूर था। संगीता कुमारी के पिता दुबे सोरेन आंख और कान से लाचार हैं। घर मे एक मात्र कमाऊ सदस्य संगीता का भाई है जो दिहाड़ी मजदूर है और लॉक डाउन के बाद से कोई काम नही मिला। राशन कार्ड से चावल तो मिला मगर रसोई में अन्य सामान धीरे धीरे खत्म हो गया। लाचारी के हालात में सात सदस्यों का परिवार चार दिनों से माड़ भात खाने को मजबूर था। जिसकी सूचना मिलने पर भूली थाना प्रभारी गंगा सागर ओझा ने मानवता की मिशाल देते हुए हुए 50 किलो चावल, आटा, तेल, आलू, मशाला व सब्जी देकर सहयोग किया।

वही संगीता ने बताया की वो अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल हाल ही में बैंकाक और भूटान जैसे देशों से खेल कर आई है लॉक डाऊन की वजह से घर की दयनीय स्थिति काफी कमजोर पड़ गई और परिवार के समक्ष भुखमरी की स्थिति आ गई वही आपको बताते चलें कि संगीता छह भाई बहने हैं। जिसमें चार बहने और दो भाई हैं चार बहनों में संगीता सबसे छोटी है।।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Newstoday Jharkhand | Developed By by Spydiweb.