• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दाम के खिलाफ 29 जून को प्रखंड, जिला और राज्य मुख्यालयों में कांग्रेस देगी धरना-झारखण्ड   

1 min read

पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दाम के खिलाफ 29 जून को प्रखंड, जिला और राज्य मुख्यालयों में कांग्रेस देगी धरना-झारखण्ड   

NEWSTODAYJ कांग्रेस पार्टी ने पेट्रोल और डीजल की कीमतों में लगातार हो रही बढ़ोतरी के खिलाफ 29 जून को प्रखंड, जिला और राज्य मुख्यालयों में धरना देने का निर्णय लिया है। इसे लेकर कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष और सांसद राहुल गांधी और संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल ने बुधवार की देर शाम झारखंड के कार्यकारी अध्यक्षों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की।  धरना के बाद उपायुक्त और प्रखंड विकास पदाधिकारी के माध्यम से राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा जाएगा। इससे पहले 26 जून को प्रखंड से लेकर राज्य मुख्यालय तक शहीदों को सलाम कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। इसमें पार्टी के नेता और कार्यकर्ता शहीद स्मारक, महात्मा गांधी की प्रतिमा और स्वतंत्रता सेनानियों की प्रतिमा के सामने धरना देंगे। इसमें भारत चीन सीमा पर शहीद हुए सैनिकों की याद में एक घंटे का मौन कार्यक्रम भी आयोजित होगा। राहुल गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कोरोना महामारी से निपटने के मामले में पूरी तरह विफल साबित हुए ही हैं, अंतरराष्ट्रीय कूटनीति में भी केंद्र सरकार फेल हुई है।

ये भी पढ़े…

रमेशर मुर्मू हत्या के विरोध में सिदो-कान्हू के वंशज 30 जून को नहीं मनाएंगे राज्य में हूल दिवस- करेंगे विरोध प्रदर्शन

कांग्रेस के शासनकाल में अमेरिका से भी संबंध अच्छे रहे और चीन से भी बातचीत होती रही थी। कोरोना की वजह से देश की अर्थव्यवस्था बुरी तरह से प्रभावित हुई है और चीन को पता है कि देश में नफरत और बंटवारे की राजनीति में भारत को नुकसान पहुंचा है। चीन ने भारतीय जमीन पर जब कब्जा किया, तभी कार्रवाई होनी चाहिए थी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। लद्दाख, गलवान और पैलगाम के लोगों का कहना है कि चीन ने भारत के कई भूभाग पर कब्जा कर लिया है। यह समय 56 इंच सीना दिखाने का है, लेकिन सरकार विफल साबित हुई है। कोरोना के लेकर काफी पहले ही सचेत किया गया था कि तूफान आने वाला है, लेकिन सरकार समुचित तैयारी नहीं की देशवासियों को खतरे में डालने का काम किया, जिससे लोगों की मुश्किलें बढ़ी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.