पुलिस कस्टडी में दो की मौत, लोगों में उबाल। जानें पूरा मामला…….

0
http://newstodayjharkhand.com/wp-content/uploads/2018/05/PicsArt_05-23-01.04.13.jpgItalian Trulli

सीतामढ़ी।

पुलिस कस्टडी में दो की मौत, लोगों में उबाल। जानें पूरा मामला……

सीतामढ़ी। सीतामढ़ी में हत्या और लूट के मामले में पुलिस कस्टडी में बंद दो आरोपियों की मौत के बाद हड़कंप मच गया है। मामले में लोगों का कहना है कि कस्टडी में पुलिस ने थर्ड डिग्री का प्रयोग कर दोनों की जान ले ली है। परिजनों ने इसकी उच्चस्तरीय जांच की मांग की है। मामले के बाद आठ पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया है।

Italian Trulli

दूसरी ओर पुलिस का कहना है कि दोनों लोग सामान्य थे, लोग उनसे मिलने आते थे। उनकी मौत की क्या वजह थी? इसकी जांच की जा रही है। उनके पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है, रिपोर्ट आने के बाद ही कुछ पता चल सकेगा।

बताया जाता है कि सीतामढ़ी के रुन्नीसैदपुर मे दर्ज 68 /2019 मामले में पुलिस ने देर रात पूर्वी चंपारण के चकिया के रामाडीह गांव से गुरुफान और तस्लीम नामक दो अपराधियों को गिरफ्तार किया था। अपराधियों को पुलिस ने हिरासत में लेने के बाद इतनी पिटाई की गई जिससे उनकी मौत हो गई।

कहा जा रहा है कि अपराध कबूल करवाने के लिये दोनों की बेरहमी से पिटायी की गई जिससे उनकी हालत गंभीर हो गई। दोनों को गंभीर हालत में सीतामढ़ी सदर अस्पताल मे भर्ती कराया गया जहां इलाज के दौरान दोनों ने दम तोड़ दिया। मामले की जानकारी सीतामढ़ी पुलिस को मिली तो अधिकारियों के हाथ पैर फूल गए हैं।

जिले के डीएम ने कहा कि सदर एसडीओ के नेतृत्व में चिकित्सकों की टीम के द्वारा मृतकों का पोस्टमार्टम कराया जायेगा और पूरी प्रकिया की वीडियोग्राफी भी कराई जाएगी। डीएम ने कहा है कि खाना खाने के बाद दोनों की तबीयत अचानक खराब हो गई थी जिसके बाद दोनों को इलाज के लिये सीतामढ़ी सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

जानें क्या है मामला?

20 फरवरी 2019 को सीतामढ़ी-मुजफ्फरपुर हाई-वे पर बदमाशों ने मुजफ्फरपुर के औराई थानाक्षेत्र के जीवाजोर निवासी सत्यनारायण साह के पुत्र राकेश कुमार की गोली मार हत्या कर दी थी। हत्या के बाद उनकी बाइक लूट भाग निकले थे।
घटना के बाद मुजफ्फरपुर के आइजी सख्त हुए और सीतामढ़ी पुलिस ने छापे के दौरान चकिया के रमडीहा से दोनों युवकों को मंगलवार की रात गिरफ्तार किया। सीतामढ़ी ले जाने के बाद वहां के थाने में की गई पिटाई के कारण दोनों की मौत बुधवार को हो गई। गुरुवार को जब शव चकिया लाया गया तो लोगों का आक्रोश भड़क गया और लोग आंदोलित हैं।

गिरफ्तार पूर्वी चंपारण के चकिया थानाक्षेत्र के रमडीहा निवासी मनाउल के पुत्र गुफरान व मुलाजिम के पुत्र तस्लीम की मौत से नाराज लोगों ने गुरुवार को चकिया में शव पहुंचने के साथ जमकर बवाल किया। नाराज लोग सुबह होने के साथ गांव में पहुंचे शवों को लेकर शहर में प्रवेश किया।
पुलिस के खिलाफ नारेबाजी करते हुए राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-28 पर ओझा टोला के पास पहुंचे। यहां आने के साथ लोगों ने सड़क पर टायर जलाकर जबरदस्त आगजनी कर दी। शवों के एनएच पर रख दिया और पुलिस की इस कार्रवाई को बर्बर बताते हुए नारेबाजी करने लगे।
लोगों का आरोप था कि पुलिस ने मंगलवार की रात दोनों युवकों को उठाया और सीतामढ़ी में ले जाकर उनकी हत्या कर दी गई। सरकार इस मामले की उच्च स्तरीय जांच कराए। साथ ही मारे गए युवकों के परिजनों को सरकारी मुआवजा दिया जाए।

इस बीच नाराज लोगों के गुस्से को देखते हुए सुरक्षा के लिए बड़ी संख्या में पुलिस अधिकारी व जवानों को चकिया शहर व एनएच पर तैनात किया गया है। ताकि कहीं से भी कोई आपात स्थिति पैदा नहीं हो। चकिया के पुलिस उपाधीक्षक शैलेंद्र कुमार और मेहसी थानाध्यक्ष अवनीश कुमार समेत कई थानों के थानाध्यक्ष नाराज लोगों को समझाने में लगे हैं।

NEWSTODAYJHARKHAND.COM

Italian Trulli

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here