• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने किया स्वीकार, पाक में सक्रिय थे 40 आतंकी समूह। पढ़ें पूरी खबर……..

1 min read

वाशिंगटन।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने किया स्वीकार, पाक में सक्रिय थे 40 आतंकी समूह। पढ़ें पूरी खबर……..

वाशिंगटन। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने स्वीकार किया कि उनके देश की पिछली सरकारों ने अमेरिका को सच नहीं बताया। खासतौर से पिछले 15 सालों की अवधि में उसने तमाम जरूरी जानकारियां अमेरिका से साझा नहीं कीं। उन्होंने कहा पाकिस्तान में 40 अलग-अलग आतंकवादी समूह सक्रिय थे। पाकिस्तान ऐसे दौर से गुजरा है, जहां हमारे जैसे लोग इस बात को लेकर चिंतित थे कि हम इस स्थिति से कैसे बाहर निकलेंगे। पाकिस्तान का 9/11 की घटना से कुछ भी लेना-देना नहीं था। अल-कायदा अफगानिस्तान में था। पाकिस्तान में कोई तालिबानी आतंकवाद नहीं था। हम अमेरिका की लड़ाई में शामिल हुए। इसके लिए मैं अपनी सरकार को जिम्मेदार ठहराता हूं। कांग्रेसनल पाकिस्तान कॉकस की अध्यक्ष शीला जैक्सन ली द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए इमरान खान ने यह बात की। ली भारत और भारतीय अमेरिकियों पर कांग्रेस के कॉकस की भी सदस्य हैं। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने कहा पाकिस्तान में 40 अलग-अलग आतंकवादी समूह सक्रिय थे। पाकिस्तान ऐसे दौर से गुजरा है, जहां हमारे जैसे लोग इस बात को लेकर चिंतित थे कि हम (पाकिस्तान) इस स्थिति से कैसे सुरक्षित निकल पाएंगे। उन्होंने कहा यह बहुत महत्वपूर्ण था कि वह राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और अन्य शीर्ष अमेरिकी नेताओं से मिलें। उन्होंने कहा कि हमने उन्हें बताया कि आगे बढ़ने के लिए हमारे रिश्ते आपसी विश्वास पर आधारित होने चाहिए। खान ने कहा उन्होंने अमेरिका को ईमानदारी से बताया कि पाकिस्तान शांति प्रक्रिया में क्या कर सकता है। उन्होंने कहा वह इस वार्ता को शुरू करने के लिए तालिबान को राजी करने के वास्ते अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास कर रहे हैं।

NEWSTODAYJHARKHAND.COM

Leave a Reply

Your email address will not be published.