• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

पाकिस्तान के पूर्व अंपायर असद रऊफ का हार्ट अटैक से निधन, क्रिकेट जगत में शोक की लहर

1 min read

पाकिस्तान के पूर्व अंपायर असद रऊफ का हार्ट अटैक से निधन, क्रिकेट जगत में शोक की लहर

पाकिस्तान के पूर्व अंपायर असद रऊफ का हार्ट अटैक से लाहौर में निधन हो गया. असद रऊफ ने 66 साल की उम्र में दुनिया को अलविदा कह दिया. इस बात की जानकारी असद रऊफ के भाई ताहिर ने दी है. उनके भाई ने बताया है कि बुधवार को असद रऊफ अपनी दुकान बंद करके घर जा रहे थे. तभी अचानक से उन्हें कार्डियक अरेस्ट हुआ और उनका निधन हो गया. इस खबर के बाद क्रिकेट जगत में शोक की लहर है. 2013 में अंपायरिंग के सभी फॉर्मेट से लिया था संन्यास

बता दें कि BCCI की ओर से क्रिकेट के सभी प्रारुपों में अंपायरिंग करने पर बैन लगाये जाने के बाद असद रऊफ लाहौर के लांडा बाजार में कपड़े और जूतों की दुकान चला रहे थे. असद रऊफ के पास 170 इंटरनेशनल मैचों में अंपायरिंग का अनुभव था. इनमें 49 टेस्ट, 23 T20 और 98 ODI शामिल हैं. इसके अलावा उन्होंने 15 टेस्ट मैचों में टीवी अंपायरिंग की है. पाकिस्तानी अंपायर ने 2013 में अंपायरिंग के सभी फॉर्मेट से संन्यास ले लिया था.

2000 में शुरू हुआ था इंटरनेशनल करियर

गौरतलब है कि रऊफ ने अंपायरिंग की शुरुआत 1998 में ही हो गयी थी. लेकिन साल 2000 में उन्होंने पहली बार इंटरनेशनल मुकाबलों में पाकिस्तान बनाम श्रीलंका के बीच खेले मैच से उतरे. फिर 4 साल बाद यानी 2004 में रऊफ को ICC ने अपने इंटरनेशनल पैनल में शामिल किया. अ सद रऊफ का अंपायरिंग करियर साल 2000 से 2013 तक चला.मैच फिक्सिंग और स्पॉट फिक्सिंग का लगा था आरोप

रऊफ साल 2006 से 2013 तक आईसीसी के एलीट अंपायर पैनल के सदस्य रह चुके हैं. उनके ऊपर मैच फिक्सिंग और स्पॉट फिक्सिंग में शामिल होने का आरोप भी लगा था. फरवरी साल 2016 में रऊफ को बीसीसीआई द्वारा भ्रष्टाचार का दोषी पाया गया. जिसकी वजह से उन्हें पांच साल के लिए क्रिकेट से प्रतिबंधित कर दिया गया. पाकिस्तानी अंपायर को औपचारिक रूप से मुंबई पुलिस ने साल 2013 में आईपीएल सट्टेबाजी कांड में आरोपी पाया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published.