• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

पांच साल का कार्यकाल पूरा कर चुके धनबाद,देवघर,कोडरमा सहित 8 नगर निकायों में प्रशासक की होगी नियुक्ति

1 min read

पांच साल का कार्यकाल पूरा कर चुके धनबाद,देवघर,कोडरमा सहित 8 नगर निकायों में प्रशासक की होगी नियुक्ति

NEWSTODAYJ – नगर विकास विभाग ने पांच साल का कार्यकाल पूरे कर चुके नगर निकायों के लिए राज्य मंत्रिपरिषद के पास मंजूरी के लिए प्रस्ताव भेजा दिया है। वहीँ प्रस्ताव को हरी झंडी मिलते ही आठों नगर निकायों के निर्वाचित बोर्ड के भंग करने की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। इसके साथ ही 18 जून से धनबाद, देवघर और चास नगर निगमों के मेयर-डिप्टी मेयर को हटा दिया जाएगा। कोडरमा, झुमरी तिलैया, विश्रामपुर, मझियांव और चक्रधरपुर नगर निकायों के प्रमुख भी हटाए जाएंगे।

आपको बतादें कि झारखंड के आठ नगर निकायों में आगामी 18 जून से प्रशासक नियुक्त होंगे। झारखंड नगर विकास विभाग की ओर से तैयार प्रस्ताव के तहत तीनों नगर निगमों में नगर आयुक्तों को ही प्रशासक नियुक्त किया जाएगा। बाकी पांचों नगर निकायों के मुख्य कार्यपालक अधिकारियों को प्रशासक नियुक्त किया जाना है। सभी को झारखंड नगरपालिका अधिनियम के तहत तमाम वित्तीय अधिकार दिए जाएंगे। नगर विकास विभाग ने प्रस्ताव पर वित्त विभाग की मंजूरी पहले ही ले ली है।

ये भी पढ़े..

झारखंड 2020-21 शैक्षणिक सत्र के करीब एक तिहाई पाठ्यक्रम में होगी कटौती

आठों नगर निकाय का प्रबंधन संभालने वाले निर्वाचित जनप्रतिनिधि अपने पांच साल का कार्यकाल पूरा कर चुके हैं। कोरोना काल के कारण राज्य निर्वाचन आयोग को यहां चुनाव की प्रक्रिया टालनी पड़ी है। कोरोनावायरस की वजह से लॉकडाउन होने के कारण राज्य निर्वाचन आयोग को 14 नगर निकायों के चुनाव टालने पड़े हैं। इनमें से गोमिया, बड़की सरेया, धनवार, हरिहरगंज, बचरा और महागामा में पहले चुनाव नहीं हुए थे। दो साल के भीतर इनका गठन ही हुआ था। इन 14 नगर निकायों में मेयर-डिप्टी मेयर या अध्यक्ष-उपाध्यक्ष का चुनाव पहली बार दलगत आधार पर होना था। धनबाद, देवघर, चास, कोडरमा, झुमरी तिलैया, विश्रामपुर, मझियांव और चक्रधरपुर नगर निकायों में भी पिछली बार दलगत आधार पर चुनाव नहीं हुए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.