पर्यावरणविद अपनी निजी खर्च पर अबतक 25 कि.मी सड़क का करा चुके है निर्माण कार्य पूर्ण

सामाजिक समानता के लिए कौशल किशोर ने तीन लाख की लागत से भुइयां टोली तक कराया सड़क निर्माण

NEWSTODAYJ(निरंजन सिन्हा)छतरपुर/पलामू – विश्वव्यापी पर्यावरण संरक्षण अभियान के राष्ट्रीय अध्यक्ष सह पर्यावरण धर्म व वन राखी मूवमेंट के प्रणेता पर्यावरणविद कौशल किशोर जायसवाल ने अपनी जन्मभूमि छतरपुर अनुमंडल के ग्राम पंचायत डाली बाजार के कौशल नगर से भुइयां टोली इटको सिवाना तक कई किसानों की जमीनों का जरसमन देकर तीन किलोमीटर मिट्टी मोरम सड़क का निर्माण कार्य पूर्ण कराकर समाजसेवा का मिसाल कायम किया।

उन्होंने अबतक अपने जीवन में निजी खर्चों से अलग-अलग स्थानों पर अब तक 12 वा सड़क निर्माण मैं25 किलोमीटर सड़क का निर्माण पूर्ण करा चुके हैं। तीन लाख की लागत से बनी सड़क अब कौशल नगर बाजार से भुइयां टोलीऔर नाई टोला से हनीफ टोला तक जाने के लिए न सिर्फ मार्ग सुगम हो गया बल्कि उनसबों का चिरप्रतीक्षित मांग भी पूरी हो गयी। पर्यावरणविद कौशल किशोर ने अबतक जो 25 किलोमीटर सड़क अपनी निजी खर्चों पर बनवाई है उसका विस्तृत जानकारी उपलब्ध कराई है। उन्होंने बताया कि उनके पर्यावरण धर्म के आठ मूल मन्त्रों में जन और जानवर की सेवा कर सामाजिक प्रदूषण दूर करना शामिल है। उसी के तहत अबतक वे इस कार्य को करते आये हैं। वन राखी मूवमेंट के प्रणेता कौशल ने कहा कि समाज में कई ऐसी समस्याएं है जिसका निदान केवल सरकार के भरोसे संभव नहीं है।

ये भी पढ़े…

भारतीय स्टेट बैंक की शाखा की विधि व्यवस्था से आए दिन उपभोक्ता परेशान रहते हैं…..

उन्होंने कहा कि आज भी कई ऐसे गांव और टोले हैं जहां तक जाने के लिए कोई सरकारी रास्ता नहीं है। वैसी जगहों पर वहां के लोगों के साथ समन्वय बनाकर ही उस मामले का निदान किया जा सकता है। आज कोई भी व्यक्ति अपनी निजी जमीनों पर सड़क निर्माण कार्य होने नहीं देता भले ही क्यों न उसे भी उस रास्ते से जाना हो। वैसी स्थिति में रास्ते में आने वाले सभी किसानों को उनकी जमीन का उचित कीमत देकर ही रास्ता का निर्माण कार्य कराया जा सकता है। उन्होंने नवनिर्मित सड़क के दोनों किनारे जल्द ही पौधरोपण करने की बातें कही है।
मौके पर उपस्थित डाली बाजार के मुखिया अमित कुमार जायसवाल ने कहा कि किसी भी क्षेत्र में सड़क विकास का आईना होता है ।

बच्चों को सरकारी मदद पहुंचाएं एवं स्कूल में नामांकन कराएं – हेमन्त सोरेन…

सड़क बनने से केवल जन को नहीं जानवरों को भी लाभ मिलता है। कार्यक्रम में उपस्थित सुचित कुमार जायसवाल, वार्ड राम लल्लू प्रसाद, अमीन बृजमोहन सिंह, धर्मदेव यादव, नरेश भुइयां, आदित्य कुमार रवि, जुबेर,अंसारी, बृजकिशोर विश्वकर्मा, श्यामदेव पासवान, कृष्णा सिंह,शमीम अंसारी, बाल गोविंद सिंह अर्जुन सिंह, राजकरमु राम, समेत सैकड़ों ग्रामीण उक्त सड़क का निर्माण कराना चाहते थे। जबकि कुछ लोग सड़क नहीं बने इसके लिए विरोध भी कर रहे थे उसमें मंटू राम उर्फ आलोक रंजन राम, संजीव कुमार राम, खुर्शीद अंसारी, मुंतजीर अंसारी आदि शामिल थे। लेकिन गांव के लोगों के सामने उनका कुछ नहीं चला और सड़क बन गयी। जिससे लोगों में काफी उत्साह है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here