न्याय की गुहार लगाते हुए ससुराल वाले पर प्रताड़ित करने का महिला ने लगाया आरोप-पति की हो चुकी है मृत्यु 

न्याय की गुहार लगाते हुए ससुराल वाले पर प्रताड़ित करने का महिला ने लगाया आरोप-पति की दो वर्ष पहले हो चुकी है मृत्यु 

NEWSTODAYJ (निरंजन सिन्हा) छतरपुर/पलामू- पलामू जिले के नौडीहा प्रखंड अंतर्गत खैरादोहर से एक मामला प्रकाश में आया है । महिला खैरादोजर ग्राम निवासी स्व निजामुद्दीन की बहू व स्व अयूब अंसारी की पत्नी है ।
महिला बताती है कि दो वर्ष पहले उसके पति की मौत हो गई । जिसके बाद से उसकी जिंदगी मानो नर्क हो गई है । महिला के पांच छोटे छोटे बच्चे है ।
महिला खैरुन निशा बताती है कि उनके पति के रहते हो पिता की संपत्ति का बंटवारा सर्वसहमति से उनके पति सहित तीनो भाईयो के बीच हो चुका था । वहीं एक भाई युनूस अंसारी अपना सारा हिस्सा बेच कर छत्तीसगढ़ में बस गए है । व एक भाई शाहजहां अंसारी की नजर तभी अकेली महिला और महिला के हिस्से कि जायदाद पर रहने लगी। और ओ इसको हथियाने के महिला को लगातार प्रताड़ित करते चले गए । साथ ही महिला पर अवैध संबंध के लिए दबाव बनाया और जब उसकी नहीं चली तो दिनांक 30.4.2018 को शाहजहा अंसारी के द्वारा आधी रात को जबरन महिला के कमरे में प्रवेश कर महिला के साथ मार पित और बलात्कार की नाकाम कोशिश की । ये सारी बाते महिला ने अपने आवेदन में स्पष्ट किया है।
इन सारी घटनाओं से तंग आ महिला ने इसकी लिखित शिकायत सराईदिह ओ पी व नौडीहा थाने में दर्ज कराई । लेकिन इस बाबत कोई ठोस करवाई नहीं की गई । जिसके बाद शाहजहा अंसारी ने 7.5.2018 को महिला व उनकी पांच बच्चियों के साथ मार पिट कर उन्हें घर से बाहर निकाल दिया। एक और भाई युनूस अंसारी ने महिला के घर का ताला तोड़ उसपर कब्ज़ा कर लिया और घर में से पैसे जेवरात सहित की चीजे गायब कर दी ।

जिसके बाद महिला ने बड़ी हिम्मत के साथ इस मामले से पलामू एसपी व डीजीपी को भी अवगत कराया और उनसे ये बात भी साझा कि स्थानीय पुलिस मामले को दबाने की कोशिश कर रही है। इसलिए मामले कि निष्पक्ष जांच कराई जाए। जिसके बाद तत्कालीन डीजीपी ने महिला को बुला उनके साथ न्यायोचित करवाई का आश्वाशन दिया । इन सब बातो के बावजूद भी भी स्थानीय सराईदिः ओ पी प्रभारी व नौडीहा प्रखंड थाना प्रभारी ने मामले में टाल मटोल लगाए रखा। तब तक चुनाव आ गए । इस दौरान महिला पर कई जानलेवा हमले भी कराए गए। कई मर्तबा खुद और अन्य लोगो से जबरन अवैध संबंध बनाने को दबाव बनाया गया । इसकी भी जानकारी स्थानीय पुलिस को दी गई बावजूद इसके सिर्फ कानूनी दफा 107 के तहत एक मामला दर्ज कर फाइल को ठंडे बस्ते में डाल दिया गया।
महिला बताती है कि उन्होंने फिर भी नहीं हार मानी और इन सारी बातों की शिकायत पूर्व मुख्यमंत्री के जनता दरबार के माध्यम से उन तक पहुंचाया ।

 

ये भी पढ़े..

पर्यावरणविद अपनी निजी खर्च पर अबतक 25 कि.मी सड़क का करा चुके है निर्माण कार्य पूर्ण

सारे प्रयासों के बाद मामले में जब कोई ठोस करवाई नहीं हुई तो महिला ठक हार घर छोड़ अपनी पांच बच्चियों के साथ जैसे तैसे डाल्टनगंज में रह रही थी। अब एक बार फिर महिला के अपनी बच्चियों के भविष्य का खतरा सताने लगा है , जिस वजह से नई सरकार और नए आला अधिकारियों पर विश्वास जता फिर से एक बार नौडीहा थाने में आवेदन सौंपा है।  नौडीहा थाना प्रभारी मो कुदूस अंसारी ने महिला को आश्वाशन दिया है की आज ही ये मामला उनके संज्ञान में आया है जो काफी गंभीर है जल्द ही इस पर दोनों पक्षों को बुला कर मामले की करवाई आगे बढ़ाई जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here