• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

नोएडा और भुवनेश्वर में लगने वाली महामशीन से की जाएगी कोरोना टेस्ट-एक दिन में 1400 सैम्पल हो पाएगी टेस्ट

1 min read

नोएडा और भुवनेश्वर में लगने वाली महामशीन से की जाएगी कोरोना टेस्ट-एक दिन में 1400 सैम्पल हो पाएगी टेस्ट

NEWS TODAY – कोरोनावायरस से लड़ने के लिए केंद्र सरकार की ओर से काफी बड़ी तैयारी की जा रही है. इससे पहले की यह वायरस कम्युनिटी में फैले, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय और इंडियन काउंसिल आफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) की ओर से महामशीन लगाने की तैयारी हैl

ये भी पढ़े-मछली व्यवसायी से 5 लाख रुपये लेकर चंपत होने वाला ड्राइवर को पुलिस ने धर दबोचा  

कोरोनावायरस की जांच के लिए देशभर में फिलहाल 72 लैब हैं. इनकी संख्या में 49 का और इजाफा किया जा रहा है, लेकिन दो बड़ी मशीन लगाई जा रही हैं, जिसे High Through put screening machine कहा जाता है. पूरे विश्व में कुछ ही देशों के पास यह मशीन है. जिसमें इटली, अमेरिका, चीन जैसे देश शामिल हैं. भारत में दो जगह नोएडा और भुवनेश्वर में यह मशीन लगायी जा रही हैl

इस मशीन में एक बार में 96 सैम्पल का टेस्ट हो सकता है. एक टेस्ट को करने में यह मशीन महज दो घंटे का वक्त लेती है. इस तरह एक दिन में 1400 सैम्पल इस मशीन के जरिए टेस्ट किए जा सकते हैं. उन्होंने कहा कि इस मशीन को लगाए जाने का काम बड़ी तेजी से चल रहा है और उम्मीद यह किया जाना चाहिए कि आगामी रविवार तक यह मशीन काम करने लगेगीl इस वक्त जो भी लैब में मशीनों का प्रयोग हो रहा है उसमें टेस्ट रिपोर्ट आने में कम से कम 4.30 घंटे का वक्त लगता है. दो तरह के टेस्ट करना पड़ता है. दोनों टेस्ट मिलाकर और भी ज्यादा समय लग जाता है. फिलहाल अभी भारत में कोरोना स्टेज दो की श्रेणी में है. यदि स्टेज तीन की श्रेणी में आता है तो परेशानी बढ़ सकती है. ऐसे में इस मशीन की जरुरत काफी ज्यादा होगीl

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ट्रेंडिंग खबरें