• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

नेत्र उत्सव अनुष्ठान के साथ शुरू किया गया जगन्नाथ रथ यात्रा महोत्सव- मंगलवार को मंदिर परिसर में निकाली जाएगी रथयात्रा

1 min read

नेत्र उत्सव अनुष्ठान के साथ शुरू किया गया जगन्नाथ रथ यात्रा महोत्सव- मंगलवार को मंदिर परिसर में निकाली जाएगी रथयात्रा

NEWSTODAYJ – कोरोना काल में सभी पर्व और त्यौहार का रंग फीका पड़ रहा हैl परन्तु आस्था और सुरक्षा के बीच लोग दोनों को लेकर चल रहे हैंl इसी कड़ी में रविवार को धनसार स्थित जगन्नाथ मंदिर में भगवान जगन्नाथ का नेत्र उत्सव मनाया गया। हालांकि ग्रहण के कारण सुबह छह बजे होने वाले अनुष्ठान को टाल दिया गया। दोपहर तीन बजे मंदिर की साफ-सफाई शुरू की गई। शाम के सात बजे से नेत्र उत्सव अनुष्ठान की शुरुआत की गई। भगवान के जागते ही रथयात्रा महोत्सव की शुरुआत हो गई। कहा जाता है कि 108 घडों के पानी से स्नान के बाद भगवान जगन्नाथ बीमार पड़ गए थे। बहन सुभद्रा और भाई बलभद्र के साथ 15 दिन के एकांतवास में रहने के बाद रविवार को नेत्र उत्सव पर उन्हें बाहर निकाला गया।

ये भी पढ़े..

झारखण्ड में इन जगहों में मिले चार नए सोने के भण्डार होने के संकेत-केंद्र से अनुमति के बाद होगी आकलन की प्रक्रिया शुरू

वहीँ इससे पूर्व गुप्त पूजा हुई। श्रृंगार करने के बाद भगवान जगन्नाथ को सिंहासन पर बैठाया गया। इसके बाद नेत्र उत्सव अनुष्ठान की शुरुआत की गई। हालांकि सामान्य के दिनों में नेत्र उत्सव पर मंदिर परिसर में काफी भीड़ उमड़ती थी, लेकिन कोरोनावायरस में लॉकडाउन के कारण मंदिर में आम लोगों के प्रवेश पर रोक है। जगन्नाथ मंदिर के पुजारी देवाशीष पंडा ने बताया कि 15 दिन के बाद भगवान को अन्न का भोग लगाया गया है। सोमवार को सुबह छह बजे सिंहासन आरोहण पूजा होगा। मंगलवार को मंदिर परिसर में रथयात्रा निकाली जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.