धनबाद अल्पसंख्यक समाज ने लगाया कांग्रेस पर मुसलमानों को ठगने का आरोप। क्लिक कर पढ़ें पूरी खबर….

0
40

यहाँ देखे वीडियो !

धनबाद।

धनबाद अल्पसंख्यक समाज ने लगाया कांग्रेस पर मुसलमानों को ठगने का आरोप। क्लिक कर पढ़ें पूरी खबर….

धनबाद। धनबाद अल्पसंख्यक समाज ने बेंजर होटल में प्रेस वार्ता कर कांग्रेस पार्टी पर मुसलमानों को ठगने का आरोप लगाया। विगत कुछ दिनों से धनबाद लोकसभा को लेकर कई तरह के कयास लगाये जा रहे हैं। अलग-अलग प्रत्याशियों के नाम सामने लाये जा रहे हैं, और मुसलमान समाज इस पर अपनी नजर बनाये हुए हैं। अल्पसंख्यक समाज के लोगों ने कहा कि मुसलमान समाज अपने हितों की रक्षा के लिए वोट करेगी और देश के संविधान को बचाने के लिए हर संभव प्रयास करेगी।

हम ना किसी पार्टी के समर्थन में खड़ें होंगे और ना किसी व्यक्ति के साथ। हम बस देश की अखंडता और सेकुलरिज्म को बचाने के लिए जो भी खड़ा है उसका साथ देंगे। प्रेस वार्ता में बताया गया कि पिछले कुछ दिनों से कयास लगाये जा रहे हैं कि भूतपूर्व भाजपा सांसद कीर्ति आजाद धनबाद लोकसभा सीट से कांग्रेस के प्रत्याशी बनाये जा रहे हैं। ये वही व्यक्ति हैं जिन्होंने पिछले 25 सालों से नफरत की राजनीति की है और अब पार्टी से हटा दिये जाने के कारण एकाएक सेकुलरिज्म का ढोंग कर रहे हैं।

2014 का चुनाव भी इन्होंने दरभंगा में हिन्दू-मुसलमान की राजनीति कर जीती थी, ये बात किसी से छुपी नहीं है।
प्रेस वार्ता में बताया गया कि अगर जरा और पीछे जायें तो ये भागलपुर दंगों के समय बिहार के मुख्यमंत्री रहे श्री भागवत झा आजाद के पुत्र हैं जिनके बारे में कहा जाता है कि जब भागलपुर में हजारों मुसलमान मारे जा रहे थे तो वे चुपचाप नजारा देख रहे थे। इस पर अपनी राजनीति रोटी सेकने की कोशिश कर रहे थे। जो आरोप इनपर है ठीक वैसे ही आरोप 2002 में हुए दंगों के दौरान नरेंद्र मोदी जी पर भी लगे, फर्क बस इतना है कि भागलपुर दंगों में गुजरात के 2002 दंगों से कई गुणा ज्यादा मुसलमान मारे गये। अनुमान है कि लगभग 10000 मुसलमानों की सरेआम हत्या कर दी गयी । भागलपुर से सांसद रहे निवर्तमान मुख्यमंत्री भागवत झा आजाद इन आरोपों से जीवन भर नहीं बच पाये और अंत में उन्हें सपरिवार कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल होना पड़ा।

झारखंड में महागठबंधन ने एक मुसलमान को टिकट नहीं दिया। सेकुलरिज्म को मजबूत करने के लिए झारखंड के मुसलमानों ने इसको भी स्वीकार किया लेकिन अगर किसी ऐसे व्यक्ति को जिसका बचपन से मुसलमान विरोधी नजरिया रहा हो और जिन्होंने अपनी पूरी राजनीति हिन्दू मुसलमान को लड़ा कर किया हो तो मुसलमान समाज ऐसे प्रत्याशी का खुल कर विरोध करेगी। मुसलमान समाज को कोई मजबूर समझता है और ये सोचता है कि कोई भी व्यक्ति उनका वोट छीन सकता है तो गलतफहमी में है। अगर कांग्रेस धनबाद से ऐसे मुसलमान विरोधी कीर्ति आजाद को टिकट देती है तो मुसलमान समाज खुल कर इसका विरोध करेगी और जो भी समुसलमान प्रत्याशी खड़ा होगा उसको वोट देगी।

जिसका असर पूरे झारखंड में दिखेगा। प्रेस वार्ता के दौरान अलिम अंसारी, मुजिबुर रहमान, सैय्यद शहजाद, जौन, काब्या, हाजी सब्बन, रिन्कु, मुकेश कुमार, हुसैन अली, मो. जेंद, तारिक हबीब आदि उपस्थित थे।

NEWSTODAYJHARKHAND.COM

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here