• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

देश का सबसे ऊंचा बांध बनेगा अरूणाचल प्रदेश में। क्लिक कर पढ़ें पूरी खबर………

1 min read

नई दिल्ली।

देश का सबसे ऊंचा बांध बनेगा अरूणाचल प्रदेश में। क्लिक कर पढ़ें पूरी खबर………

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में गुरुवार को हुई आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति ने अरुणाचल प्रदेश की दिबांग बहुउद्देशीय योजना (एमपीपी) के लिए पूर्व-निवेश गतिविधियों और विभिन्न मदों पर खर्च को 1600 करोड़ की मंजूरी दे दी है। इस परियोजना के तहत अरूणाचल प्रदेश में भारत का सबसे ऊंचा बांध बनेगा। इसकी ऊचांई करीब 278 मीटर होगी। इसके साथ ही यह देश की सबसे बड़ी पनबिजली परियोजना भी है। इस योजना से 2880 मेगावाट बिजली पैदा होगी। दिबांग बहुउद्देशीय योजना की कुल अनुमानित लागत करीब 28080 करोड़ है। अनुमान है कि यह परियोजना करीब 9 साल में पूरी होगी। अरूणाचल प्रदेश के लॉअर दिबांग वैली जिले में दिबांग नदी पर यह बांध बनाया जाएगा। अरूणाचल प्रदेश सरकार को इस परियजोना के पूरा होने के बाद 12 फीसदी बिजली मुफ्त में मिलेगी। इसके अलावा एक प्रतिशत बिजली (11.2 करोड़ यूनिट) स्थानीय क्षेत्र विकास कोष (एलएडीएफ) में दी जाएगी। मुफ्त बिजली और स्थानीय क्षेत्र विकास निधि को मिलाकर इस योजना से प्रदेश सरकार को करीब 26785 करोड़ का फायदा होगा। इसके साथ ही बाढ़ जैसी आपदाओं पर नियंत्रण किया जा सकेगा। अरुणाचल प्रदेश में बाढ़ और बाढ़ जैसे हालात से बचने के लिए ब्रह्मपुत्र बोर्ड का मास्टर प्लान पूरा किया जाना है।

NEWSTODAYJHARKHAND.COM

Leave a Reply

Your email address will not be published.