देशभर में फैले फर्जी बाबाओं के आश्रमों और अखाड़ों के खिलाफ दायर याचिका में सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र से माँगा जवाब

[URIS id=45547]

देशभर में फैले फर्जी बाबाओं के आश्रमों और अखाड़ों के खिलाफ दायर याचिका में सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र से माँगा जवाब

NEWSTODAYJ  – देशभर में फैले फर्जी बाबाओं के खिलाफ कार्रवाई को लेकर सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दायर की हैl ऐसे 17 बाबाओं के आश्रमों और अखाड़ों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की गई है। जिनमें आसाराम, नारायण साईं, राधेमां, रामरहीम, ओमजी जैसे बाबाओं के नाम शामिल हैं। याचिका में कहा गया है कि अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद जो कि आश्रमों और अखाड़ों की सर्वोच्च संस्था है उसने भी इन अखाड़ों को अवैध घोषित कर रखा है।

ये भी पढ़े…

कोरोना की वैक्सीन ‘कोवैक्सीन’ का हैदराबाद के निम्स में शुरू हुआ ह्यूमन ट्रायल

आपको बतादें कि देशभर में फैले फर्जी बाबाओं के आश्रमों और अखाड़ों नियंत्रण की मांग वाली जनहित याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से जवाब मांगा है। कोर्ट ने सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता से पूछा कि इस मामले में क्या किया जा सकता है, बताएं। सुप्रीम कोर्ट दो हफ्ते बाद इस याचिका पर सुनवाई करेगा। मुख्य न्यायाधीश की बेंच ने सुनवाई के दौरान कहा कि याचिका में कही गयी बातें विचारणीय हैं। कोर्ट ने सॉलिसिटर जनरल से राय मांगी है। दो हफ्ते बाद सुनवाई होगी।

ये भी पढ़े…

विश्व स्तर पर कोरोना के मामले बढ़कर 1.19 करोड़ के पार-5.46 लाख से ज्यादा हुई मौत

तेलंगाना निवासी दुम्प्ला रामरेड्डी ने सुप्रीम कोर्ट में दायर याचिका में कहा है कि बिना नियम-कायदे के चलने वाले ऐसे फर्जी बाबाओं के कई आश्रमों और अखाड़ों में आपराधिक गतिविधियां चल रही हैं। याचिका में ऐस बाबाओं पर अंकुश लगाने और इनके आश्रमों, अखाड़ों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here