• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

दिल्ली हाईकोर्ट का कोरोना को लेकर अहम् फैसला

1 min read

दिल्ली हाईकोर्ट का कोरोना को लेकर अहम् फैसला

NEWS TODAY – कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए कोर्ट में लोगों की भीड़ को कम करने के लिए दिल्ली हाईकोर्ट ने सख्त कदम उठाए हैं. इसी कड़ी में हाईकोर्ट में लॉ इंटर्नस की एंट्री पर अगले आदेश तक रोक लगा दी गई है.

ये भी पढ़े-नोएडा और भुवनेश्वर में लगने वाली महामशीन से की जाएगी कोरोना टेस्ट-एक दिन में 1400 सैम्पल हो पाएगी टेस्ट

कोर्ट एडमिनिस्ट्रेशन ने फैसला लेते हुए कहा कि कोरोना वायरस महामारी के चलते जजों के साथ अटैच लॉ इंटर्नस को कोर्ट में दाखिल न होने दिया जाए, रजिस्ट्रार जनरल की तरफ से जारी सर्कुलर में कोर्ट प्रशासन को इंटर्न के पास जारी न करने और कोर्ट में तैनात सुरक्षा एजेंसियों को लॉ इंटर्न को अगले आदेश तक परिसर में प्रवेश न करने देने का निर्देश दिया गया है.

दिल्ली हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश डीएन पटेल की अध्यक्षता में बुलाई गई इमरजेंसी मीटिंग में कोर्ट में मामलों की सुनवाई को 20 मार्च तक सीमित करने का निर्णय लिया गया है. इसके साथ ही दिल्ली की सभी अदालतों में केवल जरूरी मामलों पर ही सुनवाई की जाएगी. Coronavirus Law Interns banned in Delhi High Court, Coronavirus: दिल्ली हाईकोर्ट में लॉ इंटर्नस पर लगी रोक, वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से होगी कैदियों की पेशी वहीं कोर्ट में लोगों की एंट्री भी सीमित कर दी गई है. इसके अलावा 17 से 20 मार्च के बीच लंबित मामलों को 14 से 17 अप्रैल तक के लिए टाल दिया गया है, बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि ट्रायल कोर्ट केवल जमानत, रोक और जरूरी मामलों की ही सुनवाई करेंगे बाकी सभी मामलों को 31 मार्च तक के लिए टाल दिया गया है.

निर्देशों के मुताबिक, किसी भी विचाराधीन कैदी को पेशी के लिए कोर्ट में न लाकर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए ही सुनवाई की जाएगी. इसके साथ ही आगे की स्थिति को देखते हुए कमेटी 20 मार्च को फिर से रिव्यू करेगी और आगे के लिए निर्देश जारी करेगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ट्रेंडिंग खबरें