• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

दिन के 11 से अपराह्न 3 बजे तक होंगे नामांकन

1 min read

रांची।

दिन के 11 से अपराह्न 3 बजे तक होंगे नामांकन

रांची। लोकसभा चुनाव की अधिसूचना जारी होने के उपरांत शुरु होने वाले नामांकन प्रक्रिया में भारत निर्वाचन आयोग के द्वारा तय मापदंडों का पालन सुनिश्चित करने को लेकर श्री विनय चौबे, अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने आज दिनांक 9 मार्च को सभी जिला निर्वाचन पदाधिकारियों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग कर आवश्यक दिशा निर्देश दिए. उन्होंने बताया कि आयोग द्वारा अयोग्य घोषित किए गए उम्मीदवारों की अपडेट सूची जारी कर दी गई है. यह सूची आयोग की वेबसाइट पर उपलब्ध है. सभी निर्वाची पदाधिकारी इसे डाउनलोड कर अपने पास रखेंगे. श्री चौबे ने बताया कि नामांकन प्रक्रिया में किसी तरह गड़बड़ी नहीं रहनी चाहिए. अगर किसी तरह की गड़बड़ी हो तो उसका निराकरण किया जाना चाहिए. उन्होंने नामाकंन पत्रों की जांच (स्क्रूटनी) में किन-किन बातों ध्यान ऱखा जाना चाहिए, इस संबंध में भी जिला निर्वाचन पदाधिकारियों को निर्देश दिए. उन्होंने मतदान केंद्रों के बारे में भी विस्तृत प्रतिवेदन मुख्य निर्वाचन अधिकारी के कार्यालय, रांची को प्रेषित करने को कहा है. श्री मनीष रंजन, अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने भी वीडियो कांफ्रिंसंग के दौरन सभी जिला निर्वाचन पदाधिकारियों को कई दिशा निर्देश दिए. वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान सभी जिलों के जिला निर्वाचन पदाधिकारी मौजूद थे.

श्री चौबे ने बताया कि नामांकन पत्र दाखिल करने के लिए तय तारीखों के बीच निर्वाची पदाधिकारी के कार्यालय में दिन के 11 से अपराह्न 3 बजे तक उम्मीदवार नामांकन पत्र दाखिल कर सकते हैं. लेकिन, सार्वजनिक अवकाश के दिन नामांकन की प्रक्रिया नहीं होगी. उन्होंने सभी निर्वाची पदाधिकारियों को कहा कि वे अपने कार्यालय में बड़ी दीवार घड़ी लगाएंगे. इस घड़ी की समय का मिलान टीवी और अपनी हाथ खड़ी के समय से करेंगे. समय के मिलान की वीडियोग्राफी भी कराई जाए, ताकि नामांकन पत्र दाखिल करने के लिए तय समय को लेकर किसी तरह की भ्रांति नहीं रहे. उन्होंने कहा कि  नामांकन पत्र दाखिल करने के लिए तय समय ( दिन के 11 बजे) से 15 मिनट  पहले पहुंचकर सभी सहायक निर्वाची पदाधिकारी इससे जुड़ी सारी तैयारियों को पूरी कर लेंगे, ताकि नामांकन के दौरान कोई कठिनाई नहीं हो.

श्री  चौबे ने सभी जिला निर्वाचन पदाधिकारियों को कहा कि अपराह्न तीन बजे तक निर्वाची पदाधिकारी के कार्यालय में नामांकन पत्र दाखिल करने के लिए जितने भी उम्मीदवार मौजूद रहेंगे, उन सभी का नामांकन पत्र स्वीकार किया जाएगा. उन्होंने बताया कि राज्य में मान्यता प्राप्त राजनीतिक दल के उम्मीदवार के लिए नामांकन पत्र दाखिल करने के लिए एक प्रस्तावक और अन्य उम्मीदवारों के लिए दस प्रस्तावक का होना जरूरी है.  उन्होंने निर्वाची पदाधिकारियों को कहा कि वे अपने कार्यालय में एक सूचना पट्ट भी लगवाएंगे, जिसमें अधूरे नामांकन से जुड़ी जानकारी दी जाएगी.

श्री विनय चौबे ने निर्वाची पदाधिकारियों को नामांकन प्रक्रिया के दौरान अक्सर होनेवाली त्रृटियों और उसके निराकरण के संबंध में ध्यान आकृष्ट कराया. उन्होंने कहा कि जिन उम्मीदवारों द्वारा नामांकन पत्र भरा जाना है, उनका नाम मतदाता सूची में सुनिश्चित हो. साथ ही उसका सीरियल नंबर का भी मिलान किया जाना है. उन्होंने बताया कि निर्वाची पदाधिकारी उम्मीदावारों के नामांकन पत्र दाखिल करने वक्त उनका हस्ताक्षर सुनिश्चित करेंगे. इसके अलावा नामांकन पत्र में कोई भी कॉलम खाली नहीं छोड़ा जाना चाहिए. साथ ही उम्मीदवारों द्वारा दिए गए शपथ पत्र पूर्ण होने चाहिए. अपूर्ण होने की स्थिति में उम्मीदवारों को नया शपथ पत्र देना होगा. उम्मीदवार नामांकन पत्र के साथ नया खोला गया बैंक पासबुक की कॉपी अनिवार्य रुप संलग्न करेंगे.

श्री विनय चौबे ने जिला निर्वाचन पदाधिकारियों को निर्देश दिया कि आवश्यकतानुसार ग्रामीण इलाकों में 1200 और शहरी इलाकों में 1400 से ज्यादा मतदाता होने पर ऑक्जिलरी मतदान केंद्र बनाए जाएं. उन्होंने निर्वाची पदाधिकारियों को मतदान केंद्रों का प्रतिवेदन देने को कहा. उन्होंने कहा कि अगर कोई मतदान केंद्र क्षतिग्रस्त हो तो उसके अगल-बगल में स्थित किसी सरकारी भवन में मतदान केंद्र को तब्दील कर उसका प्रतिवेदन भी मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी को प्रेषित करें.

श्री मनीष रंजन, अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान जिला निर्वाचन पदाधिकारियों को निर्देश दिया कि वे ईवीएम-वीवीपैट को लेकर चलाए गए जागरुकता कार्यक्रम और डिस्ट्रिक्ट आईकॉन से संबंधित विहित प्रपत्र भेजें. उन्होंने कहा कि इस प्रपत्र को भारत निर्वाचन आयोग को भेजा जाना है. उन्होंने मतदाता जागरुकता को लेकर स्वीप के तहत चल रहे कार्यक्रमों की भी जानकारी ली.

श्री रंजन ने कहा कि 11-12 मार्च को डॉ श्रीकृष्ण सिंह लोक प्रशासकीय संस्थान, रांची (एटीआई) में सहायक निर्वाची पदाधिकारियों (एआरओ) के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा. जिन्होंने पूर्व में प्रशिक्षण प्राप्त नहीं किया है. जिनका योगदान बाद में हुआ हो, उनके लिए प्रशिक्षण प्राप्त करना अनिवार्य है.

श्री रंजन ने सभी सरकारी व निजी विश्वविद्यालयों के कुलपति से मास्टर ट्रेनर के लिए दो कर्मियों के नाम प्रेषित करने को कहा है. मास्टर ट्रेनर का प्रशिक्षण लेने के उपरांत ये अपने विश्वविद्यालयों में गठित चुनाव पाठशाला में मतदाताओं को मतदान व चुनावी प्रक्रिया में भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए प्रशिक्षित करेंगे. वीडियो कांफ्रेंसिंग के अंत में प्रश्नोत्तर सेशन भी चला. जिसमें नामाकंन प्रक्रिया के दौरान होने वाली कठिनाईयों से जुड़े सवालों का अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारियों द्वारा निराकरण किया गया.

NEWSTODAYJHARKHAND.COM

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ट्रेंडिंग खबरें