• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

तुर्की ने दो सीरियाई एयरक्राफ्ट मार गिराए

1 min read

तुर्की ने दो सीरियाई एयरक्राफ्ट मार गिराए

NEWS TODAY- सीरिया और तुर्की के बीच के रिश्ते अब ज्यादा ख़राब होते नजर आ रहे हैl बताते चले कि सीरिया के राष्ट्रपति बशर अल असद के समर्थन वाली फौजों द्वारा तुर्की के ड्रोन को गिराए जाने के तुरंत बाद तुर्की की सेना ने नॉर्थ वेस्ट इदलिब में सीरियाई सरकार के दो फाइटर जेट्स को मार गिराया हैl दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ने के बाद सीरियाई सरकार ने इदलीब के एयरस्पेस को बंद कर दिया है. साथ ही एक सीरियाई अधिकारी ने न्यूज एजेंसी सना को बताया कि अगर कोई भी एयरक्राफ्ट उनके एयरस्पेस में घुसता है तो उसे मार गिराया जाएगाl

ये भी पढ़े-नया बाजार में CAA को लेकर अनिश्चित कालीन धरनार्थियों को असब्द बोलने पर माहौल गर्म:पुलिस छावनी में इलाका तब्दील

मालूम हो कि रूसी सेना की मदद से अल असद समर्थित सेनाओं ने इदलिब को विरोधी गुटों के कब्जे से रिहा कराया था, जिन्हें तुर्की का समर्थन प्राप्त था. दिसंबर में ऑपरेशन तेज होने के बाद सीरियाई सरकारी सेना तेजी से अंतिम विपक्षी गढ़ की ओर बढ़ी और इदलिब की सीमाओं से सटे अलेप्पो प्रांत के कुछ हिस्सों पर नियंत्रण स्थापित कर लियाl

तुर्की का कहना है कि यह ऑपरेशन इलाके में तनाव कम करने के लिए रूस के साथ साल 2017 और 2018 में किए गए समझौते के खिलाफ है. तनाव तब और बढ़ गया जब सीरियाई सरकार द्वारा इदलिब में की गई एयर स्ट्राइक में तुर्की के 34 सैनिकों की मौत हो गई थी. ये साल 2016 के बाद से सीरियाई विवाद में तुर्की के शामिल होने के बाद से उसकी सबसे बड़ी हानि थी. यह हमला 27 फरवरी को किया गया था.

इसके जवाब में अंकारा की तरफ से दावा किया गया कि उन्होंने सीरियाई सरकार के कई ठिकानों को निशाना बनाया और 2,200 से ज्यादा सैनिकों को मार गिराया. तुर्की के रक्षा मंत्री हुलुसी अकर के मुताबिक जवाबी कार्रवाई में तुर्की ने सीरिया के 8 हेलीकॉप्टर, 103 टैंक, 72 आर्टिलरी और रॉकेट लॉन्चर के साथ तीन एयर डिफेंस सिस्टम को भी निशाना बनाया. तुर्की ने इस ऑपरेशन को ‘स्प्रिंग शील्ड’ नाम दिया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ट्रेंडिंग खबरें