• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

तीन भाईयों ने सीओ को आवेदन देकर मुख्य सड़क से घर तक आने जाने के लिए रास्ता दिलाने की गुहार लगाई। पढ़ें पूरी खबर………..

1 min read

गढ़वा।

तीन भाईयों ने सीओ को आवेदन देकर मुख्य सड़क से घर तक आने जाने के लिए रास्ता दिलाने की गुहार लगाई। पढ़ें पूरी खबर………..

(संवाददाता-विवेक चौबे)
गढ़वा। जिले के कांडी प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत ग्राम- मिश्रौलिया निवासी- राम चन्द्र मिश्रा, शम्भू नाथ मिश्रा व अश्विनी कुमार मिश्रा तीन सगे भाइयों ने सीओ को आवेदन देकर मुख्य सड़क से घर तक आने जाने के लिए रास्ता दिलाने की गुहार लगाई है।19 जुलाई को सीओ को दिए आवेदन में सभी ने कहा है कि हम सभी चार भाई होते हैं।हम सभी ने आपसी सहमति से अपनी रैयती जमीन में मुख्य सड़क से घर तक आने जाने के लिए बिस कड़ी चौड़ी मिट्टी मोरम का रास्ता बनाये थे ।लेकिन दूसरे नंबर के भाई कृष्णा नंद मिश्रा अब उक्त रास्ते पर आने जाने में रुकावट पैदा कर रहे हैं।रास्ता बनाने के लिए हम सभी चारो भाइयो ने 12 दिसम्बर 2017 को एक कोर्ट स्टाम्प पर लिखित रूप से हस्ताक्षर कर सहमति बनाये थे।रास्ता बनाने में लगभग एक लाख का खर्च आया था।उसके बाउजूद रास्ता बंद करने व रास्ता को काट देने की धमकी दी जा रही है।
इस मामले को लेकर शुक्रवार को अंचल कार्यालय से राजस्व कर्मचारी भी स्थल जांच किया है।इस विषय में कृष्णा नंद मिश्रा ने बताया कि पहले हम सभी सर्वे के सरकारी रास्ता से आते जाते थे।लेकिन सभी भाइयों का अलग अलग घर बन जाने के बाद नया रास्ता बनाया गया।मैंने सरकारी रास्ते पर मवेशी के लिए झोपड़ी बनाया था ।लेकिन भाइयों ने थाने में केस कर दिए।उसके बाद मैंने झोपड़ी को हटा लिया। रास्ता बंद करने व काटने का आरोप गलत है। मुझे हिस्सा में सरकारी रास्ता को दिया गया था।तीनो भाई मुझे उसके बराबर जमीन दे दे और कोई बात नही है। वैसे भी यह मामला कोर्ट में लंबित है।

NEWSTODAYJHARKHAND.COM

Leave a Reply

Your email address will not be published.