• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

डीलर पर राशन नही देने का आरोप-एक महीना का राशन देकर कार्ड पर दो महीने का इंट्री

1 min read

डीलर पर राशन नही देने का आरोप-एक महीना का राशन देकर कार्ड पर दो महीने का इंट्री

NEWS TODAY (संवाददाता- विवेक चौबे)गढ़वा : जिले के कांडी प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत बेलहत व पतिला गांव के कार्डधारी लाभुकों ने जागृति स्वयं सहायता समूह लाइसेंस नंबर 45/18 की डीलर- सबिता देवी पर राशन नही देने का आरोप लगाया है।

ये भी पढ़े- अचानक धनबाद PMCH पहुंचे सूबे के स्वास्थ्य मंत्री-अवव्यवस्था देख बिफरे

साथ ही एक महीना का राशन देकर राशन कार्ड पर दो महीने की एंट्री कर देने का गंभीर आरोप लगाए हैं। लाभुकों ने बुधवार को डीलर द्वारा राशन वितरण में घपला करने की बात मुखिया प्रतिनिधि- गुड्डू सिंह व बीडीसी- आशिक अंसारी को बताया। प्रतिनिधि द्वय ने दुकान पर जाकर मामले का तहकीकात किया तो लाभुकों का आरोप को सही पाया। पतिला गांव की सकीला बीबी, खुर्शीदा बीबी, मैरून बीबी, बसरून बीबी ने बताया कि डीलर ने एक महीना अप्रैल का राशन देकर कार्ड पर दो महीना मई का भी इंट्री कर दिए हैं। उसी गांव के मोईन अंसारी, नतलून बीबी, जमाल अंसारी ने डीलर पर दो महीने से राशन नही देने का गम्भीर आरोप लगाया।

सभी ने बताया कि डीलर ने कहा कि आज एक महीना का ही चावल मिलेगा लेना है तो लीजिए नही तो जहां जाना है जा सकते हैं। डीलर के दुकान से 532 पीएच व 39 अन्तोदय कार्डधारी लाभुक टैग हैं। जविप्र दुकानदार के पास अप्रमानिक वितरण पंजी पाया गया। वितरण पंजी प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी के द्वारा प्रमाणित भी नही किया हुआ है। एक पतली कॉपी पर खाद्यान का वितरण किया जाता है। साथ ही डीलर के पास आपदा रजिस्टर भी उपलब्ध नही है। इस लॉकडाउन की स्थिति में भी डीलरों द्वारा गरीबों का हक लुटा जा रहा है। इस तरह का वाकया प्रायः रोज देखने को मिल रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.