• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

झारखंड में ग्रामीणों के बाद अब शहरी क्षेत्रों में उद्योगों को खोलने की छूट

1 min read

झारखंड में ग्रामीणों के बाद अब शहरी क्षेत्रों में उद्योगों को खोलने की छूट

NEWS TODAY :  झारखंड में शहरी क्षेत्रों में सभी प्रकार के उद्योगों को खोलने की छूट दे दी गई है. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने बुधवार को इसका ऐलान किया. हालांकि राज्य के ग्रामीण और औद्योगिक क्षेत्रों में यह रियायत पहले से ही है. सिर्फ कंटेनमेंट जोन को इस छूट के दायरे से अलग रखा गया है. सरकार के इस फैसले के बाद राज्य में औद्योगिक गतिविधि में तेजी आने की उम्मीद है. इसी के साथ प्रदेश लौट रहे मजदूरों को रोजगार भी मिलेगा. वैसे सीएम ने ये पहले ही बता दिया था कि कोरोना की स्थिति को देखते हुए धीरे-धीरे लॉकडाउन में छूट दी जाएगी.

ये भी पढ़े…

झारखण्ड में 21 नए मरीजों के साथ संक्रमितों की संख्या हुई 458

बता दें कि राज्य सरकार ने लॉकडाउन-4.0 में औद्योगिक क्षेत्रों में उद्योगों को खोलने की इजाजत दी. इससे औद्योगिक क्षेत्रों में मौजूद इकाइयां शुरू तो हुईं, लेकिन उससे जुड़ी छोटी-छोटी इकाइयों को चालू करने में परेशानी आ रही थी. कुछ दिन पहले झारखंड चेंबर ऑफ कॉमर्स के लोगों ने सीएम हेमंत सोरेन से मुलाकात की थी. उस दौरान सीएम ने उन्हें लॉकडाउन में धीरे-धीरे ढील देने का भरोसा दिलाया था. जानकारी के मुताबिक राज्य सरकार के इस ताजा फैसले से रांची की ढाई सौ से ज्यादा औद्योगिक इकाइयों को सीधा लाभ मिलेगा. राजधानी में 250 से ज्यादा छोटे और मझोले उद्योग कार्यरत हैं. इनमें रेडिमेड गारमेंट्स, बैग, मोमबत्ती और फर्नीचर से जुड़े उद्योग शामिल हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.