• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

जरा हटके:दो छात्रों के बैंक अकाउंट में अचानक आए करोड़ों रुपये, पता चलते ही हंगामा हो गया

1 min read

NEWSTODAYJ_बिहार के दो लड़कों के बैंक अकाउंट में अचानक से करोड़ों रुपये आ गए। इतने पैसों का मैसेज मिलते ही हंंगामा मच गया और घर वाले परेशान हो गए। हालांकि बाद में गड़बड़ी का भी पता चल गया।

यह भी पढ़े….जरा हटके:7 करोड़ 70 लाख का बिक रहा यह छोटे डिब्बे जैसा घर, अंदर से देखेंगे तो हैरान रह जाएंगे

बैंक खातों में आए 900 करोड़

बिहार के कटिहार में दो बच्चों के बैंक खातों में 900 करोड़ रुपये आ गए। इससे ना केवल लड़कों का परिवार बल्कि पूरा गांव बैंक खातों की जांच के लिए बैंक की ओर दौड़ पड़े। गुरुचंद्र विश्वास और असित कुमार के खातों में जमा की गई राशि 900 करोड़ रुपये से अधिक है। दोनों लड़के कटिहार जिले के बगौरा पंचायत के पस्तिया गांव के रहने वाले हैं।

दोनों खाते उत्तर बिहार ग्रामीण बैंक के

दोनों लड़कों के खाते उत्तर बिहार ग्रामीण बैंक में हैं। वे स्कूल यूनिफॉर्म खरीदने और संबंधित खर्चों के भुगतान के लिए सरकारी योजना के तहत कुछ पैसे मिलने की उम्मीद कर रहे थे। छात्र गुरुचंद्र विश्वास के खाते में 60 करोड़ रुपये से ज्यादा जमा हुए हैं, जबकि असित कुमार के खाते में 900 करोड़ से अधिक की राशि जमा हुई है। दोनों खाते उत्तर बिहार ग्रामीण बैंक के भेलागंज शाखा के हैं।

मामले की जानकारी होने पर बैंक मैनेजर मनोज गुप्ता हैरान रह गए और पैसे निकालने पर रोक लगा दी थी। तब बैंक की ओर से कहा गया था कि बच्चों के माता-पिता से पूछताछ की, तो वे भी फंड के स्रोत का खुलासा नहीं कर पाए। अब हम यह पता लगाने के लिए मामले की जांच कर रहे हैं कि पैसे भेजने वाला कौन है।

जांच के बाद जो सच सामने आया वो कम हैरान करने वाला नहीं था। एनआई के अनुसार कटिहार डीएम ने कहा कि पैसे का कोई ट्रांसजेक्शन नहीं हुआ है। सीबीएस की गड़बड़ी के कारण उनके अकाउंट में पैसा दिखा रहा था।

ऐसा ही एक मामला खगड़िया जिले में भी

बता दें कि ऐसा ही एक मामला खगड़िया जिले में भी सामने आया था। रंजीत दास नाम के एक निजी ट्यूटर को बैंक की गलती से उनके खाते में 5.5 लाख क्रेडिट हो गए। जब रंजीत से पैसा मांगा गया तो उन्होंने मना कर दिया। उन्हें नोटिस दिए जाने के बावजूद उन्होंने राशि वापस करने से इनकार कर दिया। रंजीत का कहना था कि ये पैसे उसे सरकार ने भेजे हैं। इसलिए वो पैसे वापस नहीं करेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.