• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

जदयू के लिए मुसीबत बन सकते हैं प्रशांत किशोर

1 min read

पटना।

जदयू के लिए मुसीबत बन सकते हैं प्रशांत किशोर

पटना। बिहार की राजनीति में हमेशा कुछ न कुछ हलचल होती रहती है। इस बार सियासी हलचल जदयू के भीतर ही है और उसके केंद्र में हैं रणनीतिकार और जदयू के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर। Related imageबीते कुछ समय से अपने बयानों और गतिविधियों की वजह से प्रशांत किशोर मीडिया की सुर्खियों में हैं।

अगर हाल ही के घटनाक्रमों पर नजर डालें तो ऐसा लग रहा है कि जदयू और प्रशांत किशोर दोनों अलग-अलग धारा में चल रहे हैं। बेगूसराय के शहीद पिंटू सिंह को जब सरकार और पार्टी की ओर से कोई श्रद्धांजलि देने नहीं गया, तब प्रशांत किशोर ने सरकार और पार्टी की ओर से माफी मांगी। फिर जब वह मुजफ्फरपुर में युवाओं के साथ कार्यक्रम में गए, तब उन्होंने कहा कि उन्होंने देश में प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री बनाए हैं।

प्रशांत किशोर ऐसे-ऐसे बयान दे रहे हैं, जो आने वाले चुनावों में जदयू के लिए मुसीबत साबित हो सकते हैं और इसका सियासी फायदा विपक्ष उठा सकता है। प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री बनाने वाले बयान से लेकर जदयू को भाजपा के साथ न जाने की बात, Related imageजैसे प्रशांत किशोर के बयान से जदयू नाराज नजर आ रही है। जदयू में प्रशांत किशोर को लेकर काफी नाराजगी है और दबी जुबान से वे प्रशांत किशोर के बयानों से किनारा भी कर रहे हैं।

अब वह युवाओं को भी सासंद, विधायक बनाएंगे। इसके बाद उनका एक और बयान वायरल हो रहा है जिसमें वह कह रहे हैं कि नीतीश कुमार को भाजपा के साथ गठबंधन नहीं करना चाहिए। दरअसल, प्रशांत कुमार के ये कुछ हालिया ऐसे बयान हैं, जिससे जदयू किनारा कर रही है। इन बयानों की वजह से जदयू में प्रशांत किशोर को लेकर भी काफी नाराजगी है।

NEWSTODAYJHARKHAND.COM

Leave a Reply

Your email address will not be published.