• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

चीफ जस्टिस रहे रंजन गोगोई को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राज्यसभा के लिए किया नामित

1 min read

चीफ जस्टिस रहे रंजन गोगोई को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राज्यसभा के लिए किया नामित

NEWS TODAY – भारत के 46वें चीफ जस्टिस रहे रंजन गोगोई को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राज्यसभा के लिए नामित किया है. गृह मंत्रालय की ओर से जारी अधिसूचना में कहा गया है, “भारत के संविधान के अनुच्छेद 80 के खंड (तीन) के साथ पठित खंड (एक) के उपखंड (क) द्वारा प्रदत्त शक्तियों का उपयोग करते हुए राष्ट्रपति, एक मनोनीत सदस्य की सेवानिवृत्ति के कारण हुई रिक्ति को भरने के लिए रंजन गोगोई को राज्यसभा का सदस्य मनोनीत करते हैं.

ये भी पढ़े- वासेपुर नया बाज़ार मे सीएए, एनपीआर और एनआरसी के विरोध में चल रहे अनिश्चितकालीन धरना पर बैठे लोगों ने कोरोना वायरस के मद्देनज़र सरकार की जागरूक्ता मुहिम को दिया अपना समर्थन

बताते चले कि पूर्व सीजेआई ने अयोध्या राम मंदिर समेत कई महत्वपूर्ण मामलों पर फैसला सुनाया था. रंजन गोगोई 3 अक्टूबर 2018 को भारत के 46वें चीफ जस्टिस बने थे. गोगोई का कार्यकाल लगभग 13 महीने का रहा था. वह असम के मुख्यमंत्री रहे केशब चन्द्र गोगोई के बेटे हैं.

संविधान के अनुच्‍छेद 80 के मुताबिक, राज्‍यसभा के कुल 250 सदस्‍यों में से 12 मेंबर्स को राष्‍ट्रपति नॉमिनेट करते हैं. मतलब राज्‍यसभा के 238 सदस्‍यों का चुनाव राज्‍य और केंद्र शासित प्रदेशों के प्रतिनिधि चुनते हैं.राष्‍ट्रपति जिन 12 सदस्‍यों को नॉमिनेट करते हैं, उनके पास साहित्‍य, विज्ञान, आर्ट और सामाजिक कार्यों में विशेष अनुभव होना चाहिए. एक और खास बात यह है कि उपराष्‍ट्रपति राज्‍यसभा के चेयरपर्सन होते हैं. राज्‍यसभा के सदस्‍यों का कार्यकाल 6 वर्ष का होता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ट्रेंडिंग खबरें