• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

चीन ने जाहिर की झारखंड के विकास में सहयोग करने की इच्छा !

1 min read

रांची।

चीन ने जाहिर की झारखंड के विकास में सहयोग करने की इच्छा !

रांची। मुख्य सचिव सुधीर त्रिपाठी से उनके कार्यालय में भेंट कर चीनी प्रतिनिधिमंडल ने झारखंड के विकास में सहयोग और साझेदारी की इच्छा जाहिर की। कोलकाता में पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना के कॉन्सुलेट जेनरल जहा लीऊ के नेतृत्व में चीनी प्रतिनिधिमंडल ने कहा कि भारत के नार्थ इस्ट के राज्यों और चीन के साउथ वेस्ट के प्रांतों में आपसी सहयोग के क्षेत्र को चिह्नित कर आगे बढ़ा जा सकता है। उन्होंने कहा कि झारखंड के खनिज संपदा और टाटा जैसी कंपनियों के साथ चीन की हैवी इंजीनियरिंग और ऊर्जा के क्षेत्र में तालमेल कर आगे बढ़ने की काफी गुंजाइश है। उसी के साथ कॉन्सुलेट जेनरल जहा लीऊ ने मुख्य सचिव के माध्यम से मुख्यमंत्री रघुवर दास और राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू को जून में चीन आने के लिए आमंत्रित किया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री पहले भी चीन की यात्रा पर जा चुके हैं, लेकिन इस बार की यात्रा आपसी सहयोग से व्यापार बढ़ाने पर फोकस होगा।

चीनी प्रतिनिधिमंडल ने ट्रेड के अलावा एक दूसरे से लगातार संवाद पर बल देते हुए कहा कि इसका दायरा चीनी लोगों और झारखंडी जनता तक बढ़ानी चाहिए। इसके लिए एक दूसरे के यहां शिक्षा, कला और अन्य क्षेत्रों से जुड़े लोगों को आने-जाने पर बल दिया गया। मुख्य सचिव ने चीनी प्रतिनिधिमंडल की बातों से राज्य सरकार को अवगत कराने और तदनुसार सूचित करने की बात कही। उसके पहले चानी प्रतिनिधिमंडल ने रांची की खूबसूरती का बखान किया और झारखंड की आवाभगत की भूरी-भूरी प्रशंसा की। चीनी प्रतिनिधमंडल ने मुख्य सचिव को स्मृति चिह्न दिया। मुख्य सचिव ने भी उन्हें झारक्राफ्ट की आदिवासी परंपराओं को उकेरता एक खूबसूरत स्मृति चिह्न प्रदान किया।

मुख्य सचिव ने इज ऑफ डूइंग विजनेस में झारखंड की उपलब्धियों की चर्चा करते हुए बताया कि रिफार्म के कारण राज्य लगातार दो साल से इस मामले में पहले नंबर पर है। उन्होंने राज्य के खनिज संपदा कोयला की चर्चा करते हुए बताया कि एनर्जी का यह स्रोत परंपरागत है और इसकी भी एक सीमा है, अतः हमे अन्य क्षेत्रों पर फोकस करना होगा। उन्होंने राज्य में संपन्न हुए ग्लोबल स्किल समिट और एग्रीकल्चर समिट की चर्चा करते हुए बताया कि एग्रीकल्चर के क्षेत्र में हम आपसी सहयोग के लिए साझा क्षेत्र चिह्नित कर सकते हैं। सहमति बनी कि चीन और झारखंड सरकार सहयोग के क्षेत्रों को चिह्नित करने के लिए अपना-अपना होमवर्क करें और ठोस नतीजे पर पहुंचे।

बैठक में गृह, कारा एवं आपदा प्रबंधन के प्रधान सचिव एसकेजी रहाटे और उच्च, तकनीकी शिक्षा एवं कौशल विकास विभाग के सचिव राजेश कुमार शर्मा भी उपस्थित थे।

NEWSTODAYJHARKHAND.COM

Leave a Reply

Your email address will not be published.