चिकित्सा जांच में खुलासा, विंग कमांडर की पसली टूटी, पीठ में भी अंदरूनी चोट

नई दिल्ली।

चिकित्सा जांच में खुलासा, विंग कमांडर की पसली टूटी, पीठ में भी अंदरूनी चोट

नई दिल्ली। पाकिस्तान में करीब 60 घंटे बंधक रहने के बाद भारत लौटे विंग कमांडर अभिनंदन विभिन्न चिकित्सा जांचों से गुजर रहे हैं। अधिकारियों के मुताबिक शनिवार को अभिनंदन का मेडिकल चेकअप में उनकी पसली टूटने, पीठ में अंदरुनी चोट और कुछ जख्मों के बारे में पता चला है। Image result for विंग कमांडर की चिकित्सा जांच में खुलासा, पसली टूटने, पीठ में अंदरुनी चोटवहीं विंग कमांडर अभिनंदन का इलाज जारी है और अभी भी उन्हें 2 दिन तक और अस्पताल में डॉक्टरों की निगरानी में रखा जाएगा।

माना जा रहा है कि अभिनंदन मंगलवार को अस्पताल से डिस्चार्ज हो सकते हैं। अधिकारियों ने बताया कि अभिनंदन का एमआरआई स्कैन भी किया गया, जिसमें पता चला है कि उन्हें किसी तरह की दिमागी चोट नहीं लगी है। शनिवार सुबह अभिनंदन अपने परिवार के सदस्यों और भारतीय वायुसेना के कई शीर्ष अधिकारियों से मुलाकात की। बताया जाता है कि मेडिकल जांच के बाद विंग कमांडर को अभी प्रोटोकॉल के तहत कई अन्य जांच प्रक्रियाओं से भी गुजरना होगा। इस जांच में कई वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा, जिनमें भारतीय वायुसेना के वरिष्ठ अधिकारी भी शामिल होकर अभिनंदन से पूछताछ करने वाले है। विंग कमांडर के पाकिस्तान में गिरने से लेकर उसके बाद के पूरे घटनाक्रम को लेकर सवाल किए जाएंगे। इतना ही नहीं उनका साइकोलॉजिकल तक का टेस्ट होगा।

विंग कमांडर की चिकित्सक जांच पर अधिकारी ने कहा कि अभिनंदन की पसली विमान से जमीन पर गिरने के कारण या फिर हिंसक भीड़ द्वारा टूटी हो सकती है। वहीं पीठ पर चोट भी विमान से गिरने के कारण लगी हो सकती है। बताया जाता हैं कि अभिनंदन जब भारत लौटकर आए तो उनकी आंख और चेहरे पर भी कुछ जख्मों के निशान थे। इसकारण उनका एमआरआई किया गया है ताकि पता चल सके कि उनके सिर पर कोई गंभीर चोट तो नहीं लगी लेकिन मेडिकल जांच में किसी गंभीर चोट के बारे में जानकारी नहीं मिली है। इसके पूर्व रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण ने भी आर्मी अस्पताल में अभिनंदन से मुलाकात की। रक्षामंत्री ने मुलाकात के बाद कहा भी था कि अभिनंदन बहुत बहादुर हैं। विंग कमांडर ने रक्षामंत्री को बताया था कि पाकिस्तान की हिरासत में रहने के दौरान उन्हें शारीरिक तौर पर प्रताड़ित नहीं किया गया, लेकिन मानसिक तौर पर काफी प्रताड़ित किया गया।

NEWSTODAYJHARKHAND.COM

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here