• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

घायलों को उपचार मिलना पहली प्राथमिकता -आधी रात में हाईकोर्ट ने सुनवाई के दौरान कहा

1 min read

घायलों को उपचार मिलना पहली प्राथमिकता -आधी रात में हाईकोर्ट ने सुनवाई के दौरान कहा

NEWS TODAY – एंबुलेंस पर हमले के खतरे को देखते हुए डॉक्टर्स के एक फोरम ने देर रात दिल्ली हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया और एंबुलेंस की सुरक्षा और घायलों को सुरक्षित शिफ्ट करने की मांग की. मामले की गंभीरता को देखते हुए हाईकोर्ट ने याचिका पर रात में ही सुनवाई की और कोर्ट ने दिल्ली पुलिस को मुस्तफाबाद के अस्पताल में भर्ती सभी घायलों को पास के बेहतर अस्पतालों में शिफ्ट करने का निर्देश दिया।

ये भी पढ़े -बेतला नेशनल पार्क के रोड दो नंबर मंगलवार से पर्यटकों के लिए खोला गया

इस दौरान घायलों को लाने- लेजाने के लिए एंबुलेंस की सुरक्षा और घायलों को सही मेडिकल सुविधा देने की मांग की गई।  दिल्ली हाईकोर्ट के जस्टिस एस मुरलीधर की अगुआई वाली बेंच ने पुलिस से कहा कि नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली के मुस्तफाबाद के अस्पतालों में भर्ती सभी घायलों को वहां से सुरक्षित निकालकर दूसरे अस्पतालों में भर्ती कराया जाए ताकि घायलों का ठीक से इलाज हो सके।
दिल्ली पुलिस की तरफ से दिल्ली हाईकोर्ट को बताया गया कि हिंसा प्रभावित मुस्तफाबाद इलाके के अस्पताल में भर्ती करीब 20 घायलों को पहले ही दूसरे अस्पताल में शिफ्ट करवाया जा चुका है।

मामले पर जस्टिस एस मुरलीधर के घर पर आधी रात को तकरीबन 12:30 बजे सुनवाई हुई, याचिकाकर्ता की वकील सुरुर मंदार ने कोर्ट को बताया कि हिंसा में गंभीर रूप से घायल लोग जो कि न्यू मुस्तफाबाद के छोटे अस्पताल अल हिन्द अस्पताल में भर्ती हैं, उन्हें वहां प्रर्याप्त इलाज नहीं मिल पा रहा है।

सुनवाई के दौरान डीसीपी क्राइम राजेश देव ने जज के सामने ही डॉ. अनवर को पूर्वी दिल्ली के डीसीपी दीपक गुप्ता का नंबर दिया और DCP को तुरंत अस्पताल पहुंचने के लिए भी कहा. कोर्ट ने दिल्ली पुलिस को निर्देश दिया कि वो घायलों को तुरंत गुरु तेग बहादुर अस्पताल, लोक नायक जय प्रकाश अस्पताल, मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज या दूसरे सरकारी अस्पतालों में भर्ती कराएं.

जज ने कहा कि घायलों को तुरंत उपचार मिलना पहली प्राथमिकता है, साथ ही पुलिस कोर्ट के आदेश के बारे में मेडिकल सुपरिटेंडेंट को भी बताए और अस्पतालों में भर्ती घायलों की जानकारी के लिए सिस्टम बनाए. कोर्ट ने आदेश दिया कि बुधवार 2:15 बजे तक कोर्ट में स्टेटस रिपोर्ट भी दाखिल की जाए. कोर्ट मामले पर दोबारा सुनवाई करेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.