• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

DECISION- गैरमजरूआ जमीन की रसीद कटने से लोगो की बहुप्रतीक्षित मांग पूरी होगी

1 min read

गैरमजरूआ जमीन की रसीद कटने से लोगो की बहुप्रतीक्षित मांग पूरी होगी

  • इस अहम निर्णय से गैरमजरूआ जमीन मालिक को जमीन के दाखिल-खारिज (म्यूटेशन) और लगान रसीद कटवाने में आ रही समस्याओं का निराकरण कर दिया गया है
  • जमाबंदी वाली जमीन पर निर्णय लेकर रसीद जारी करने का अधिकार अंचल पदाधिकारी को दिया गया है

NEWSTODAY (रवि कुमार गुप्ता)बरवाडीह:- मनिका विधानसभा के स्थानीय विधायक रामचंद्र सिंह ने कहा कि राज्य सरकार की अहम निर्णय से गैर मजरूआ जमीन की वर्षो से लंबित रसीद अब कटेंगे। विधायक ने राज्य सरकार के इस निर्णय की सराहना करते हुए कहा है कि इससे लोगो की बहुप्रतीक्षित मांग पूरी हुई है।

ये भी पढ़े-NOMINATE-परशुराम सेना के जिला महामंत्री के रूप में किया गया मनोनीत.

विधायक ने इस सम्बंध में बरवाडीह में कहा कि सरकार गठन होने व इससे पूर्व ही इस मांग को जनहित में जोर शोर से उठाया जा रहा था जिसे सरकार ने पूरा करते हुए जनकल्याणकारी निर्णय लिया है। राज्य सरकार के इस अहम निर्णय से गैरमजरूआ जमीन मालिक को जमीन के दाखिल-खारिज (म्यूटेशन) और लगान रसीद कटवाने में आ रही समस्याओं का निराकरण कर दिया गया है। सरकार के इस फैसले से एक जनवरी 1946 के पूर्व विक्रय पत्र, पट्टा, हुकुमनामा के आधार पर निबंधित वैसी जमीन, जो पंजी टू में गैरमजरूआ भूमि दर्ज है, उसकी रसीद जारी हो सकेगी।

ये भी पढ़े-BUSINESS – चांदी की कीमतों में जबरदस्त उछाल, सोने का भी भाव रिकॉर्डतोड़

इस तरह की जमाबंदी वाली जमीन पर निर्णय लेकर रसीद जारी करने का अधिकार अंचल पदाधिकारी को दिया गया है।इस फैसले से जमीन की अभिलेख भूमि सुधार उपसमाहर्ता तथा अनुमंडल पदाधिकारियों के पास भेजने की जरूरत नहीं होगी, बल्कि अंचल अधिकारी अपने स्तर से अभिलेखों व स्थल के भौतिक सत्यापन से संतुष्ट होकर अंतिम आदेश पारित कर सकेंगे।उन्होंने इससे लाभ होने की पूरी जानकारी दिया ।और इसके लिए गठबंधन की सभी दलों द्वारा किये गए प्रयासों के लिए सभी दलों व प्रदेश के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन का आभार प्रकट किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.