• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

गृह विभाग ने योगी सरकार को भेजा प्रस्ताव, UP में PFI पर प्रतिबंध लगाने की तैयारी

1 min read

गृह विभाग ने योगी सरकार को भेजा प्रस्ताव, UP में PFI पर प्रतिबंध लगाने की तैयारी

NEWS TODAY लखनऊ:: उत्तर प्रदेश में  नागरिकता संशोधन कानून (CAA) को लेकर हुए विरोध प्रदर्शनों के बाद योगी सरकार  लगातार कार्रवाई कर रही हैl उत्तर प्रदेश पुलिस कि करवाई में पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) संगठन से भी तार जुड़े हैंl मामले में लखनऊ सहित कई जिलों में संगठन से जुड़े लोगों की गिरफ्तारियां की गईं हैंl

पुलिस की अब तक की जांच में पीएफआई (PFI) यानी पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया नामक संगठन का नाम सामने आ रहा हैl प्रदेश के अलग-अलग जिलों से अब तक दर्जन भर से ज्यादा पीएफआई कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया गया हैl यूपी पुलिस ने पिछले दिनों दावा किया था कि PFI की भूमिका संदिग्ध हैl पुलिस और सरकार ने दावा किया है कि प्रतिबंधित संगठन सिमी के लोग पीएफआई नाम के संगठन में शामिल हुए और इन लोगों ने नियोजित तरीके से हिंसा करने के लिए लोगों को उकसायाl पुलिस की जांच में ये भी सामने आया है कि पीएफआई में वो लोग भी शामिल हैं, जो सिमी (SIMI) संगठन के प्रतिबंधित होने के बाद फिर से सक्रिय होने के लिए पीएफआई में आ गए हैंl यूपी सरकार अब इस संगठन पर प्रतिबंद लगाने कि तैयारी में हैंl आईजी रेंज, लखनऊ एसके भगत ने बताया कि सिमी के बैन होने के बाद इस संगठन को खड़ा किया गया थाl लखनऊ में पीएफआई से जुड़े तीन लोगों की गिरफ्तारी हुई हैl इनके पास से आपत्तिजनक वस्तुएं बरामद हुई हैंl इस मामले में अन्य तथ्यों की जांच की जा रही हैl भगत ने कहा कि पीएफआई की उत्पत्ति के बाद रेडिक्लाइज्ड लोग इसमें शामिल हुए हैंl सिमी पर प्रतिबंध लगने के बाद सिमी में सक्रिय लोगों का पीएफआई में होने की बात सामने आ रही हैl

लखनऊ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) कलानिधि नैथानी कहते हैं कि लखनऊ, शामली और मेरठ से पीएफआई के कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार भी किया गया हैl इनके पास से मोबाइल पर भड़काऊ मैसेज और ऐसे दस्तावेज बरामद किए गए हैं, जो हिंसा में लोगों को उकसाने में प्रयोग किए गए थेl

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ट्रेंडिंग खबरें