• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

गुहीबांध तथा रामपूजन नगर में निषेधाज्ञा लागू । क्लिक कर पढ़ें पूरी खबर…….

1 min read

कतरास।

गुहीबांध तथा रामपूजन नगर में निषेधाज्ञा लागू । क्लिक कर पढ़ें पूरी खबर…….

कतरास। कतरास थाना के गुहीबांध एवं रामपूजन नगर के 500 मीटर की परिधि में अनुमंडल दंडाधिकारी श्री राज महेश्वरम ने दं.प्र.सं. की धारा 144 के अंतर्गत निषेधाज्ञा लागू की है।
बताते चलें कि निषेधाज्ञा के जारी होने के बाद उपरोक्त क्षेत्र के 500 मीटर की परिधि में पांच या इससे अधिक व्यक्तियों के एकत्रित होने, किसी प्रकार की सभा का आयोजन करने, धरना प्रदर्शन करने, हरवे हथियार लेकर चलने एवं उसका प्रयोग करने, अकारण चहल कदमी करने, ध्वनि विस्तारक यंत्र का उपयोग करने पर प्रतिबंध रहेगा।
वहीं निषेधाज्ञा के अंतर्गत शवयात्रा, वैवाहिक समूह, अन्य कार्यों से पथ से जाने वाले व्यक्तियों, वाहनों पर यह प्रतिबंध प्रभावी नहीं माना जाएगा।

इसी प्रकार बता दें कि सिखों के कृपाण धारण, नेपालियों के खुखरी धारण करने पर भी यह प्रतिबंध लागू नहीं माना जाएगा।

वहीं अनुमंडल दंडाधिकारी ने बताया कि 23 मई 2019 को संध्या विजय जुलूस के दौरान तथा 24 मई 2019 को पुनः पूर्वाहन में दो समुदाय के बीच वाद विवाद उत्पन्न हो गया था।

इसी घटना को लेकर सांप्रदायिक विवाद तथा विधि व्यवस्था की गंभीर समस्या तथा लोक परिशांति के भंग होने की प्रबल संभावना के कारण निषेधाज्ञा लागू की गई है। उन्होंने कहा कि निषेधाज्ञा अगले आदेश तक जारी रहेगी।

NEWSTODAYJHARKHAND.COM

Leave a Reply

Your email address will not be published.