गिरिराज ने कहा-मुझे नवादा से टिकट क्यों नहीं मिला……?

पटना।

गिरिराज ने कहा-मुझे नवादा से टिकट क्यों नहीं मिला……?

पटना। बीजेपी के दिग्गज नेता और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह अपनी सीट बदले जाने से खासे नाराज हैं और उनकी ये नाराजगी मीडिया के सामने भी आ गई है। Image result for गिरिराज ने कहा-मुझे नवादा से टिकट क्यों नहीं मिला......?नवादा से लोकसभा सांसद रहे गिरिराज सिंह से जब उनकी सीट बदलने को लेकर सवाल किए गए तो उन्होंने बस इतना कहा कि मैं कार्यकर्ता था, कार्यकर्ता हूं और कार्यकर्ता रहूंगा। इसके साथ ही गिरिराज ने यह भी कहा कि यदि आपको सीट बदलने को लेकर कोई सवाल पूछना है तो प्रदेश नेतृत्व से पूछे। उन्होंने कहा कि मैंने नवादा में काम किया है और हमेशा नवादा के लिए काम करता रहूंगा।

बताया जाता है कि उनकी नाराजगी इस बात को लेकर है कि अगर भूमिहार के नाते उन्हें बेगूसराय भेजा जा रहा है, तो हिंदू के नाते उन्हें अररिया से ही प्रत्याशी क्यों नहीं बनाया गया? गिरिराज सिंह अपनी हिंदूत्व की छवि को लेकर जाने जाते हैं। यही कारण है कि पहली बार ही लोकसभा का चुनाव जीतने के बाद उन्हें केंद्र की मोदी सरकार में मंत्री का पद मिला था। गिरिराज सिंह के नवादा से टिकट कटने के बाद से बिहार में राजनीति गरमाई हुई है और सवाल ये उठने लगे हैं कि क्या गिरिराज सिंह को बेगूसराय भेजकर बीजेपी बलि का बकरा बनाना चाहती है।

ये पूछे जाने पर कि नवादा सीट से टिकट न मिलने पर कितना दुख है तो उन्होंने कहा कि राजनीति में इमोशन के लिए कोई जगह नहीं होती है। मैं शुरू से ही पार्टी का कार्यकर्ता था और आगे भी रहूंगा। गिरिराज सिंह का ये बयान बताने को काफी था कि वो किस कदर पार्टी के फैसले और अपनी सीट बदले जाने से नाराज है। गिरिराज सिंह फिलहाल बिहार की नवादा सीट से सांसद हैं लेकिन बिहार में एनडीए के बीच हुए सीटों के तालमेल के बाद उनकी ये सीट अब लोजपा के खाते में चली गई है।
बीजेपी ने ये सीट अपने सहयोगी एलजेपी को दी है जिसके बाद इस सीट से वीणा देवी का चुनाव लड़ना तय माना जा रहा है। गिरिराज सिंह का नवादा से टिकट कटने के बाद ये सवाल उठ रहे थे कि क्या गिरिराज को इस बार पार्टी किसी सीट से टिकट नहीं दे रही है लेकिन इसके बाद पार्टी से निकलकर जो खबरें आई उसके मुताबिक गिरिराज को बीजेपी बेगूसराय से अपना उम्मीदवार बनाएगी।

NEWSTODAYJHARKHAND.COM

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here