गांजा तस्करी मामले में निरसा एसडीपीओ को कारण थमाया गया बताओ नोटिस

गांजा तस्करी मामले में निरसा एसडीपीओ को कारण थमाया गया बताओ नोटिस

NEWS TODAY – बोकारो डीआईजी प्रभात कुमार ने निरसा एसडीपीओ विजय कुमार कुशवाहा को कारण बताओ नोटिस थमाने के साथ कई सवालों पर कटघरे में खड़े किये हैंl पूर्व एसएसपी किशोर कौशल से भी पूरे मामले में उनका पक्ष पूछने की तैयारी है। इसके लिए डीआईजी पुलिस मुख्यालय को लिखेंगे।

दरअसल 25 अगस्त 2019 को निरसा में पुलिस ने एक टवेरा कार से 39 किलो गांजा बरामद किया था। इस मामले में पुलिस ने चिरंजीत को जेल भेजा था। उनकी पत्नी जो बंगाल में कांस्टेबल हैं, उन्होंने मामले की शिकायत सीएम से की थी। शिकायत के बाद धनबाद पुलिस ने भूल सुधारते हुए 27 दिनों के बाद चिरंजीत को कोर्ट से रिहा कराया था। मामले की जांच हो रही है। निरसा एसडीपीओ से जवाब तलब किया गया है। जांच प्रभावित न हो, इसलिए निरसा थाना प्रभारी को निलंबित किया गया है। हर पहलू की जांच के बाद रिपोर्ट सौंपी जाएगी।

ये भी पढ़े…

हाइवे पर पैदल चलने वाले लोगों को उनके गंतव्य तक पहुंचाने के साथ छायादार स्थान पर निशुल्क भोजन और पानी की होगी व्यवस्था-मुख्यमंत्री

सीआईडी एडीजी अनिल पाल्टा ने 22 अप्रैल को एक शिकायत के आधार पर डीआईजी को जांच की जिम्मेवारी सौंपी थी। प्रारंभिक जांच के बाद शनिवार की रात निरसा थाना प्रभारी उमेश कुमार सिंह को डीआईजी ने सस्पेंड कर दिया। अब इस मामले में निरसा एसडीपीओ और पूर्व एसएसपी की भूमिका की जांच हो रही है। निरसा थाना के अन्य अफसर व जवान भी जांच के जद में हैं। जांच कर डीआईजी पुलिस मुख्यालय को अपनी रिपोर्ट सौंपेंगे।

वहीँ इधर उमेश कुमार सिंह के निलंबन के बाद फिलहाल निरसा का नया थाना प्रभारी किसी को नहीं बनाया गया है। रविवार को एसएसपी अखिलेश बी वारियर ने निरसा के सर्किल इंस्पेक्टर संतोष कुमार को ही निरसा थाना का अतिरिक्त प्रभार सौंप दिया है। नए थाना प्रभारी की पोस्टिंग तक संतोष कुमार ही थाने की भी कमान संभालेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here