क्या आज हो जाएंगे पेट्रोल बेचने वाले पानी पानी , या ग्राहक ही है अपराधी , या फिर आवाज उठाने की कीमत चुका रहा ग्राहक

क्या आज हो जाएंगे पेट्रोल बेचने वाले पानी पानी , या ग्राहक ही है अपराधी , या फिर आवाज उठाने की कीमत चुका रहा ग्राहक

NEWS TODAY (निरंजन सिन्हा)- कारोबारी व ग्राहक की लड़ाई में जीत जिसकी भी हो एक चीज है कि समाज को बहुत बड़ा सबक दे जाएगी और लोगो को गलत के खिलाफ आवाज उठाने की प्रेरणा।
बाते थी छोटी लेकिन हो गई पेचीदा , और खड़े कर दिए कई सवाल । मिलावटखोरी और कालाबाजारी तो हर क्षेत्र में थोड़ी बहुत तो जारी ही है इससे इंकार नहीं किया जा सकता तो वहीं व्यापारियों , कारोबारियों को रंगदारो और अपराधियों से भी आए दिन पाला पड़ता है ये भी उतना ही सत्य है । लेकिन समस्या तब खड़ी हो जाती है जब कोई ग्राहक जागो ग्राहक जागो सुन कर जाग उठता है और हल्ला बोल कर देता है या फिर कारोबारी भी अपनी मेहनत की कमाई देने के लिए अपराधियों के आगे घुटने नहीं टेकता ।
खैर सच्चाई जो भी हो आज संभवतः सामने आ जाएगी क्योंकि आज शॉकॉज किए गए पेट्रोल पंप संचालक अपना पक्ष रखेंगे अधिकारी के पास ।
कई लोग मामले से परिचित होंगे जो नहीं है उन्हें बता दू की मामला है पलामू जिले के नौडीहा बाज़ार का जहा संचालित प्रयाग ऑटोमोबाइल पेट्रोल पंप के द्वारा पेट्रोल में पानी मिलाकर दिए जाने का जिसे लेकर प्रखंड के ही लक्ष्मीपुर गांव निवासी बिट्टू सिंह ने आवेदन के जरिए नौडीहा बीडीओ व थाना प्रभारी को इसकी शिकायत की थी क्योंकि पंप से पेट्रोल ले कर गाड़ी चलाने के बाद कुछ देर आगे जा कर ही गाड़ी बंद हो गई और जब उन्होंने गाड़ी को मिस्त्री के पास चेक कराया तो मिस्त्री ने पेट्रोल में पानी मिले होने की बात कही । लेकिन इस आरोप पंप के संचालक ने मानने से इंकार कर दिया ।
और कुछ न्यूज पोर्टल और अखबारों से ये बात सामने आई कि पंप संचालक ने बताया कि शिकायत कर्ता नक्सली गतिविधियों में सक्रिय रहा है और उसने पंप संचालक से रंगदारी की मांग की थी जिसे नहीं देने पर ये झूठा आरोप लगाया है , इसे लेकर पंप मालिक ने थाने ने आवेदन देने की बात भी कही है ।
वहीं मामले को गंभीरता से लेते हुए नौडीहा बीडीओ अभय कुमार ने पंप मालिक को सोमवार तक कारण बताओ नोटिस जारी किया था । और तब से संबंधित पंप पर पेट्रोल की बिक्री बंद है ये बता कर की मशीन खराब है ।

ये भी पढ़े…

जीवन ज्योत टीम द्वारा पक्षियों के लिए किया गया पानी का प्रबंध 

इसीलिए आज के दिन का इंतजार कर रहे थे लोग और मीडिया दोनों । वहीं शिकायतकर्ता ने नक्सली संगठन से जुड़े होने की बात पूरी तरह से गलत बताई है और इस बाबत छतरपुर एसडीपीओ शंभू कुमार सिंह को आवेदन भी सौंपा है । जो सभी ग्राहकों के लिए प्रेरणा है ।
बता दे की शिकायतकर्ता की पत्नी के नाम पर पीडीएस राशन दुकान भी है जिसे लेकर ओ अक्सर अधिकारियों के साथ संपर्क में आते रहते है ऐसे में यदि उसके नक्सली संगठन से जुड़े होने की बात सही साबित होती है तो ये काफी सवालिया निशान खड़ा करेगी ।
और अगर ऐसा नहीं है और आरोप झूठा है तो फिर शायद इस तरह के झूठे आरोप से डर कर कभी कोई आवाज उठाएगा ही नहीं । साथ ही यदि पंप संचालक सही साबित होते है तो ओ अन्य कारोबारियों के लिए प्रेरणा साबित होंगे कि अपराधियों के सामने घुटने टेक अपनी कमाई नहीं लुटानी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here