कोरोना विस्फोट के बाद टाटा जामाडोबा अस्पताल में सिर्फ इमरजेंसी सेवा बहाल- ओपीडी बंद

कोरोना विस्फोट के बाद टाटा जामाडोबा अस्पताल में सिर्फ इमरजेंसी सेवा बहाल- ओपीडी बंद

NEWSTODAYJ धनबाद के टाटा स्टील झरिया डिवीजन अंतर्गत जामाडोबा 2 पिट्स कोलियरी के छह अधिकारी सहित 21 लोगों के कोरोना संक्रमित पाए जाने पर उनके संपर्क में आनेवाले लोगों की स्वास्थ्य जांच सोमवार को जामाडोबा अस्पताल में की गई। जमशेदपुर से आई मेडिकल की टीम ने डिगवाडीह कोलियरी के 90 मजदूरों, कर्मियों व यूनियन प्रतिनिधियों के स्वास्थ्य की जांच की। टीम ने रविवार को 135 लोगों के स्वास्थ्य की जांच की थी। कोलियरी क्षेत्र में कोरोना संक्रमितों के मिलने के बाद प्रबंधन ने जामाडोबा अस्पताल की ओपीडी सेवा को फिलहाल बंद कर दिया है। ताकि लोगों की यहां भीड़ नहीं लगे। प्रबंधन के अनुसार अस्पताल में इमरजेंसी सेवा चालू है।

ये भी पढ़े…

कृषि क्षेत्र में झारखण्ड सरकार की सराहनीय पहल- अब झारखण्ड में फल, फूल और सब्जी का भी होगा बीमा

सिर्फ टाटा के कर्मियों के चोटिल होने पर उनका इलाज यहां किया जाएगा। गंभीर बीमारी वाले को जमशेदपुर अस्पताल में रेफर किया जाएगा। अस्पताल को आइसोलेशन वार्ड बनाया गया है। यहां लोगों को क्वारंटाइन किया जाएगा। क्षेत्र में टाटा प्रबंधन की ओर से सैनिटाइज किया जा रहा है। चिह्नित पांच कंटेनमेंट जोन के लोगों की थर्मल स्क्रीनिग की। डिगवाडीह 12 नंबर ऑफिसर कॉलोनी, डिगवाडीह 10 नंबर ऑफिसर कॉलोनी, कालीमेला-लालबंगला कर्मचारी आवास, जीतपुर डाकघर के निकट व सुदामडीह जोन में रह रहे लोगों के घर-घर जाकर थर्मल स्क्रीनिग की। मौके पर डॉ. अनुपमा सिंह, डॉ. तुलसी के अलावा एएनएम, सेविका, सहायिका आदि थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here