• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

कोरोनावायरस को लेकर संशय में है देवघर में श्रावणी मेला लगने की स्थिति

1 min read

कोरोनावायरस को लेकर संशय में है देवघर में श्रावणी मेला लगने की स्थिति

NEWS TODAY देवघर – कोरोना संकट काल में सभी पर्व त्यौहार का रंग फीका पड़ता जा रहा हैl इसी कड़ी में अब इस वर्ष श्रावण मास 6 जुलाई से शुरू होने वाला है, लेकिन इस बार कोरोना महामारी को लेकर देवघर में विश्व प्रसिद्ध श्रावणी मेले का आयोजन होगा या नहीं, इसको लेकर संशय की स्थिति बनी हुई है. इस पर केन्द्रीय गृह मंत्रालय (MHA) की गाइडलाइंस का इंतजार किया जा रहा है. बाबा नगरी में प्रत्येक वर्ष सावन में एक महीने का श्रावणी मेला लगता है. इसमें देश-विदेश से लाखों की संख्या में श्रद्धालु कांवर लेकर बैद्यनाथ धाम आते हैं.

दरअसल कोरोना महामारी के कारण देशभर के धार्मिक स्थलों को बंद रखने का निर्देश केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से जारी हुआ है. इस निर्देश के आलोक में श्रावणी मेला के आयोजन पर संशय के बादल मंडरा रहे हैं. वैसे श्रावणी मेला सालाना होने वाला एक धार्मिक आयोजन है, लेकिन सच्चाई यह भी है कि इस मेले से न सिर्फ देवघर बल्कि पूरे संताल परगना प्रमंडल की अर्थव्यवस्था चलती है. दो महीने से जारी कोरोना लॉकडाउन के कारण मंदिर बंद रहने से क्षेत्र की आर्थिक और व्यापारिक गतिविधि थम गई है. यही वजह है कि स्थानीय व्यापारी हर हाल में मेले का आयोजन चाहते हैं.

ये भी पढ़े..

भ्रष्टाचार पर नकेल कसने को हेमंत सरकार तैयार-ACB को सौंपा करोड़ों के बैंक घोटाले का जिम्मा

वैसे श्रावणी मेला के आयोजन का निर्णय श्राइन बोर्ड द्वारा लिया जाता है. जिसके अध्यक्ष राज्य के मुख्यमंत्री होते हैं. देवघर जिला प्रशासन ने संताल परगना के आयुक्त के माध्यम से मेला के आयोजन को लेकर एक प्रस्ताव सरकार के पास भेजा है. जिला उपायुक्त सह मंदिर प्रशासक नैन्सी सहाय ने बताया कि श्राइन बोर्ड को भी मेले के आयोजन को लेकर गृह मंत्रालय के निर्देश का इंतजार है.

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.